ग्रेटर नॉएडा - सेक्युलर विनय गुप्ता ने हयात खान को रखा था दूकान पर, हयात ने पति-पत्नी को चाकुओं से काट डाला


एक बार फिर एक सेक्युलर परिवार शिकार हो गया है, ऊपर तस्वीर में आप विजय गुप्ता और उनकी पत्नी नेता गुप्ता को देख रहे है, अब ये इस दुनिया में नहीं है, ग्रेनो वेस्ट की हाई सिक्योरिटी से लैस टेकजोन-4 चेरी काउंटी सोसाइटी निवासी कारोबारी दंपती विनय गुप्ता और नेहा की हत्या सुनियोजित ढंग से की गई। 

आरोपी अमान हयात खान ने दो दिन पहले ही मोबाइल स्विच ऑफ कर लिया था। वारदात में लूट के भी सुराग मिले हैं। आरोपी मंगलवार रात 12:15 बजे सोसाइटी के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज में घुसते हुए दिखा है। वहीं, लगभग 20 मिनट बाद विनय के मार्ट की नकदी-चाबी का थैला लेकर जाते हुए दिखा है। पुलिस ने बृहस्पतिवार को मार्ट पर तैनात सभी कर्मचारियों के बयान भी दर्ज किए हैं। सोसाइटी के सुरक्षाकर्मियों को भी बिसरख कोतवाली बुलाकर पूछताछ की गई है।

पुलिस के अनुसार, विनय के मार्ट पर तैनात कर्मचारियों ने बताया कि मार्ट में कपड़े, ज्वेलरी आदि अन्य सामान के अलग-अलग कई स्टॉल-काउंटर हैं। इनमें कपड़े का स्टॉल विनय के भांजे गाजियाबाद के रामप्रस्थ निवासी सौरभ मित्तल का है। इस पर पानीपत निवासी कमल काम करता था। उसके चार माह पहले काम छोड़ने पर हयात को रखा गया था। वह मूलरूप से बिहार के पूर्वी चंपारण का रहने वाला है। 

इससे पहले वह गौड़ सिटी मॉल में कपड़े के शोरूम पर काम करता था। आरोपी ने अपनी कलाई पर हयात गुदवाया हुआ है। वह अपना नाम अमन बताता था, लेकिन अब आशंका जताई जा रही है कि उसका पूरा नाम अमान हयात खान है। स्पेलिंग एक जैसी होने से वह अमन नाम का इस्तेमाल करने लगा था। घटना के दौरान भांजा सौरभ बिहार गया हुआ था।

खून से सने जूते उतारकर विनय के पहनकर हुआ फरार बताया गया है कि आरोपी की पहचान उसके जूतों से हुई है। वारदात के दौरान आरोपी के जूते खून से सन गए थे। पकड़े जाने के डर से आरोपी अपने जूते फ्लैट में उतार गया और विनय के जूते पहनकर फरार हो गया।

वारदात में लूट की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता। आरोपी हयात खान के हाथ में थैला दिखा है। इसकी जांच की जा रही है। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें दबिश दे रही हैं। जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर वारदात का खुलासा किया जाएगा।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि नेहा का शव रसोई के पास पड़ा था। पास ही पराठा रखा था जिसमें से दो निवाले टूटे थे। आशंका है कि एक निवाला नेहा खा चुकी थी और दूसरा खाने के दौरान आरोपी ने हमला किया था। नेहा के शव से लगभग 20 कदम दूर एक कमरे में विनय का शव पड़ा था। इस कमरे में टीवी चला हुआ था। नेहा यह सोचकर देर रात खाना खा रही थी कि अगले दिन करवाचौथ का व्रत रखना था।

दो माह के भीतर दूसरी बार सोसाइटी के भीतर हुए दोहरे हत्याकांड और आरोपी के बेखौफ फरार होने से न केवल ग्रेनो वेस्ट, बल्कि यहां की पॉश सोसाइटियों की सुरक्षा पर सवाल उठने लगे हैं। पुलिस ने सोसाइटी के सुरक्षाकर्मियों से भी गहन पूछताछ की। विनय के फ्लैट और फ्लोर के आसपास तैनात सुरक्षाकर्मियों से लिखित बयान लिए गए हैं।

इनमें सुरक्षाकर्मी बॉबी ने बयान दिया कि आरोपी के वहां से गुजरने के दौरान वह वाशरूम चला गया था। दूसरे सुरक्षाकर्मी ने कहा कि करवाचौथ के मद्देनजर सोसाइटी में भीड़ अधिक थी। वह आरोपी को नहीं देख पाया। पुलिस ने सोसाइटी में एक गेट से बेरोकटोक आवागमन व एक सीसीटीवी खराब होने आदि लापरवाही बरतने पर सुरक्षा एजेंसी का लाइसेंस निलंबित करने के लिए डीजीपी कानून व्यवस्था को रिपोर्ट भेजी है।

कर्मचारियों और परिजनों से पूछताछ में पता चला है कि आरोपी अमान अपने स्टॉल से कपड़े बिक्री के रुपयों में भी धोखाधड़ी करता था। आरोपी के हत्या में नाम आने के बाद हिसाब किताब की जांच के बाद यह खुलासा हुआ है। वहीं, आरोपी वारदात से पहले बीमारी की बात कहकर कई दिन छुट्टी पर रहा था।

परिजनों ने बताया कि बृहस्पतिवार शाम पांच बजे दंपती का दूसरा बेटा अमेरिका से आ गया है। शवों का का अंतिम संस्कार शुक्रवार को ब्रजघाट पर होगा। वहीं, सेक्टर-122 में रहने वाले बेटे कुश ने अज्ञात आरोपी पर केस दर्ज कराया है।