अब आगरा के मस्जिद में युवक ने पढ़ी हनुमान चालीसा, भाईचारे को किया और मजबूत, पर उन्मादी बिलबिलाए


सिर्फ मंदिरों में नमाज़ पढ़ने से भाईचारा थोड़ी आएगी, पूरी भाईचारा तो सिर्फ तभी आएगी जब मस्जिदों के अंदर पूजा, अर्चना, भजन, कीर्तन होगा 

मथुरा के हिन्दू मंदिर में 2 मुसलमान धोखे से अंदर घुसे, उन्होंने पुजारी को कहा की हम मंदिर में दर्शन के लिए आये है, फिर मौक़ा पाते ही दोनों ने दर्शन की जगह नमाज़ पढ़ना शुरू कर दिया, उनके साथियों ने तस्वीरें ली फिर सब भाग खड़े हुए 

इस धोखेबाजी पर जब सवाल उठा तो सेकुलरों और मजहबी उन्मादियों ने कहना शुरू कर दिया मंदिर में नमाज़ से भाईचारा बढ़ेगा

अब आज हिन्दू युवकों ने भी मथुरा के साथ साथ आगरा में भी भाईचारे को बढ़ाने का काम किया,  4 हिन्दू युवकों ने पहले मथुरा के मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ी उसके बाद अब आगरा के शमशाबाद रोड स्थित नवादा के पास मस्जिद में अजय तोमर ने हनुमान चालीसा का पाठ किया 

देखिये 
 अब इस  घटना के बाद तमाम सेक्युलर और मजहबी उन्मादी जो कल तक मंदिर में नमाज़ को उचित ठहरा रहे थे वो मस्जिद में हनुमान चालीसा पढ़ने पर आग बबूला हो रहे है 

जबकि हिन्दू युवक ने तो सेकुलरिज्म और भाईचारे को और ज्यादा बढ़ाने का ही कार्य किया है