जिनपिंग के राष्ट्रपति बनने के बाद चीन ने जमींदोज कर दी 70% मस्जिदें, टॉयलेट, स्कुल, पार्किंग, शौपिंग काम्प्लेक्स, पार्क बना दी गयी


वैसे तो चीन में मस्जिदों को तोड़ने का काम दशकों से चल रहा है, पर पहले की सरकारों के दौर में साल भर में 1-2 मस्जिदें तोड़ी जाती थी

पिछले 10 साल में चीन में 14000 से ज्यादा मस्जिदों को ध्वस्त कर दिया है, साल 2010 में चीन में कुल मस्जिदों की संख्या 20 हज़ार के आसपास थी, जो की अब सिर्फ 6 हज़ार ही बच गई है

पिछले 10 सालों में चीन में 70% मस्जिदों को तोड़ दिया गया है, और जबसे जिनपिंग राष्ट्रपति बने है इस काम में बड़े पैमाने पर तेजी लायी गयी है, जिनपिंग साल 2012 में चीन के राष्ट्रपति बने थे, वैसे वो साल 2006 में ही चीनी सरकार के मुख्य लोगो में शामिल हो गए थे, पर वो साल 2012 में ही राष्ट्रपति बने थे 

जिनपिंग के शासन में 70% मस्जिदों को तोडा गया है, मस्जिदों को तोड़कर अलग अलग निर्माण कर दिया गये है, कहीं स्कुल, टॉयलेट, कहीं शौपिंग काम्प्लेक्स, कहीं पार्किंग लोट तो कहीं पार्क इत्यादि बनाये गए है 

एक रिपोर्ट देखिये 
गूगल अर्थ के मैप्स के डाटा को देखा जाये तो पहले जिन स्थानों पर मस्जिदें थी, अब उन स्थानों पर पार्किंग लोट, स्कुल, टॉयलेट, पार्क, शौपिंग काम्प्लेक्स इत्यादि दिखाई देते है 

चीनी सरकार ने इन इलाकों में रहने वाले 30 लाख मुसलमानों को अलग अलग कैम्पों में भी डाल रखा है जहाँ सरकार मुसलमानों से इस्लाम छुडवाती है और उन्हें पक्का चीनी नागरिक बनाती है