छत्तीसगढ़ में अपनी ही 13 साल की सगी बेटी का गला दबाकर चढ़ गया शेख इमाम, रेप ही रेप किया जी भरने तक


वहसी उन्मादियों से कोई सुरक्षित नहीं, क्या दूसरों की महिलाएं या क्या खुद की ही बहू बेटियां, इन वहसी उन्मादियों से तो जानवर भी सुरक्षित नहीं और ये बात बार बार साबित होती आई है 

अब छत्तीसगढ़ से फिर एक ऐसा मामला आया है जिसने साबित कर दिया है की इन उन्मादियों से इनकी सगी बेटियां तक सुरक्षित नहीं है 

मामला छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के तख़तपुर का है जहाँ शेख इमाम नाम के उन्मादी ने अपनी ही 13 साल की सगी बेटी का जी भरने तक रेप ही रेप किया 

शेख इमाम अपनी बीमार बेटी को इलाज के नाम पर बाहर लेकर गया था, शेख इमाम पहले से 2-2 बीवियों का शौहर है, उसकी 13 साल की बेटी थोडा बीमार थी जिसका इलाज करवाने के नाम पर वो उसे बाहर लेकर गया था 

शेख इमाम अपनी 13 साल की बेटी को एक सुनसान स्थान पर ले गया जो की सकरी थाना अन्तर्गत कानन पेंडारी कोटा मोड़ के पास है 

यहाँ शेख इमाम ने अपनी बेटी का गला दबाना शुरू कर दिया, और उसके कपडे जबरन खोल दिए, बच्ची ने अपनी अस्मत बचाने के लिए भागने की कोशिश भी की पर शेख इमाम ने उसे दबोच लिया, वो बीमार थी, भाग भी न सकी, उसने अपने अब्बू से अस्मत न लुटने की मिन्नतें की पर शेख इमाम नहीं माना

 जान से मारने की धमकी देकर उसने अपनी बेटी का जी भरकर रेप ही रेप किया, बेटी भी जान का खौफ खाकर रेप करवाने के लिए मजबूर हो गयी

रेप से जी भरने के बाद शेख इमाम ने अपनी बेटी से कहा की ये बात किसी को मत बताना वरना जान से मार डालूँगा, बेटी घर पहुंची जहाँ वो गुमसुम सी दिखाई दी, उसकी अम्मी को किसी गलत घटना का अंदेशा हुआ जिसके बाद उसने ठीक से पूछताछ की 

इसके बाद बच्ची की अम्मी अपने ही शौहर और बच्ची के अब्बू शेख इमाम के खिलाफ शिकायत करने पुलिस थाने पहुंची जिसके बाद पुलिस ने शेख इमाम को अपनी ही 13 साल की बेटी का रेप ही रेप करने के अपराध में गिरफ्तार किया