नहीं अभी ख़त्म नहीं हुए अमेरिकी चुनाव के नतीजे, 1 सीट की भी आधिकारिक घोषणा नहीं, अभी इंतज़ार कीजिये


 मीडिया ने ऐलान कर दिया है की अमेरिका में बाइडेन चुनाव जीत गए है और कमला हैरिस उपराष्ट्रपति बन चुकी है, पर असलियत इस से काफी दूर है 

अभी अमेरिका के चुनाव में 1 भी सीट पर विजेता का आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है, अभी आधिकारिक रूप से 1 भी सीट पर नतीजे घोषित नहीं हुए है और न  ही अभी अमेरिका के चुनाव ख़त्म हुए है 

राष्ट्रपति बनने के लिए 270 सीट की जरुरत होती है, मीडिया के ताजे आंकड़े के अनुसार बाइडेन को 290 सीट मिल चुकी है, पर असल में ये आंकड़े अमेरिकी मीडिया के है न की अमेरिका के चुनावी प्रक्रिया के आधिकारिक आंकड़े 

असल में आधिकारिक तौर पर अभी 1 भी सीट के नतीजे घोषित नहीं किये गए है, अमेरिका में भारत की तरह एक चुनाव आयोग नहीं है, वहां 50 अलग अलग राज्य है और सभी 50 के नियम और कानून अपने अपने है

किसी भी सीट पर नतीजे तब ही माने जाते है जब उस सीट पर विजेता को जीत का सर्टिफिकेट मिल जाये, जीत का सर्टिफिकेट तबतक नहीं मिलता जबतक आखिरी क़ानूनी वोट की गिनती नहीं  हो जाती 

और अभी अमेरिका में 1 भी सीट पर किसी विजेता को जीत का सर्टिफिकेट नहीं मिला है

अभी जबतक सर्टिफिकेट नहीं मिल जाता तबतक चुनाव ख़त्म नहीं होंगे, इसके अलावा डोनाल्ड ट्रम्प की टीम कई  राज्यों में आ रहे नतीजों को कोर्ट में भी चैलेंज करने वाली है, कई राज्यों में री काउंट होने है और अभी परिणाम बदल भी सकते है 

इसी तरह साल 2000 में रिपब्लिकन पार्टी के जॉर्ज बुश और डेमोक्रेटिक पार्टी के अल गोर के बीच चुनाव हुआ था, उस समय भी मीडिया ने अल गोर को विजेता घोषित कर दिया था, इसके बाद जॉर्ज बुश कोर्ट गए थे जिसके बाद कोर्ट ने बुश को विजेता घोषित कर दिया और आख़िरकार राष्ट्रपति  बुश ही बने थे पर इस बीच अमेरिकी मीडिया ने गोर को राष्ट्रपति घोषित भी कर दिया था, देखिये 



इसी तरह अभी जो भी आंकड़े अमेरिका के आपको बताये जा रहे है ये सब अमेरिकी मीडिया के आंकड़े है, इनमे से 1 भी आंकड़ा आधिकारिक नहीं है, अमेरिकी मीडिया ने बिना आधिकारिक नतीजों के साल 2000 में भी अल गोर को राष्ट्रपति घोषित कर दिया था और इसी तरह आज भी बाइडन को राष्ट्रपति घोषित कर डाला है पर अमेरिका में अभी न ही आधिकारिक आंकड़े आये है और न ही सुप्रीम कोर्ट ने कोई फैसला सुनाया है