कामयाब हुई कांग्रेस और मीडिया, हाथरस को लेकर आगरा में दंगे, पुलिस पर हमले


राजनेतिक और मीडिया के गिद्ध कामयाब हो चुके है, हाथरस की बेटी को न्याय दिलवाना तो सिर्फ बहाना था, असल मकसद यूपी में दंगे फसाद करवाना था जिसमे कांग्रेस पार्टी कामयाब होती नजर आ रही है 

पहले आपको बता दें की राहुल गाँधी और प्रियंका वाड्रा हाथरस की बेटी को लेकर जमकर राजनेतिक गिद्धबाजी कर रहे है 

हाथरस की बेटी का इलाज दिल्ली में हो रहा था वो भी राहुल गाँधी तथा प्रियंका वाड्रा के घर से महज 2 किलोमीटर की दुरी पर, दलित लड़की जिन्दा थी और कई दिनों तक उसका दिल्ली में इलाज हो रहा था पर राहुल गाँधी और प्रियंका वाड्रा उस से मिलने 2 किलोमीटर भी नहीं चल सके 

पर दलित लड़की के मरने के बाद जिस तरह गिद्ध लाशों को नोचने आ पड़ते है उसी प्रकार राजनीती की रोटी सेंकने के लिए राहुल गाँधी और प्रियंका वाड्रा अब यूपी में भ्रमण कर रहे है 

कांग्रेस और भ्रष्ट मीडिया का इस लड़की को न्याय दिलवाना कभी मकसद था ही नहीं, कांग्रेस का मकसद था राजनीती चमकाना और मीडिया का मकसद था पैसा कमाना, ये दो हाथरस के नाम पर समाज में जहर बोना चाहते थे और दंगे फसाद करवाना चाहते थे और आज कांग्रेस और मीडिया के गिद्ध इसमें कामयाब होते दिखाई दिए 

उत्तर प्रदेश के आगरा में आज दंगे की स्तिथि बन गयी, दलितों को उकसाया गया, और भीड़ बुलाई गयी और इस भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया 
ये तो गनीमत रही की पुलिस प्रशासन पहले से मुस्तैद था इसी कारण भीड़ पर नियंत्रण प्राप्त कर लिया गया अन्यथा ये दंगे विकराल स्वरुप ले सकते थे 

कांग्रेस पार्टी और मीडिया का ये ही मकसद था, इन दोनों ने झूठ फैलाया की दलित लड़की का गैंगरेप हुआ, आँखें निकाल दी, जीभ काट दिया, गला काट दिया, जबकि ये सारी बातें फेक न्यूज़ थी, गिद्धों का मकसद था दलितों को दूसरी जातियों के खिलाफ भड़काना और दंगे फसाद करवाकर अपनी राजनीती चमकाना और आज गिद्ध एक स्थान पर दंगे करवाने में कामयाब रहे