"मुहम्मद या इस्लाम पर कुछ बोला तो मैं भी काट दूंगा गर्दन" : मुनव्वर राणा, शायर


फ़्रांस में 47 साल के एक शिक्षक का एक मुसलमान ने अल्लाह हु अकबर चिल्लाते हुए गला काट दिया, 18 साल के मुसलमान ने शिक्षक पर पहले हमला किया, जब वो सड़क पर गिर गया तो चाकू से उसका गला काट दिया 

इसके बाद एक मुसलमान ने चर्च में घुसकर एक महिला का गला काट डाला, इसके अलावा 2 और लोगो को गोदकर मार डाला, इस दौरान हमलावर मुसलमान लगातार अल्लाह हु अकबर के नारे लगाता रहा 

अब गला काटने वाले इस कारनामे का भारत के शायर मुनव्वर राणा ने पुरजोर समर्थन किया और साथ ही ये भी कह दिया की मैं वहां होता तो मैं भी वही करता

मुनव्वर राणा ने आज साफ़ कर दिया की - मोहम्मद या इस्लाम पर कुछ बोला तो मैं भी गर्दनें काटूँगा 

मुनव्वर राणा जैसे उन्मादियों को इस देश में सेक्युलर वर्ग के लोग शायर और बुद्धिजीवी बताते है, ये वही मुनव्वर राणा है जो CAA का भी विरोध कर रहा था और चाह रहा था की पाकिस्तान अफगानिस्तान बांग्लादेश में हिन्दू और सिख मरते ही रहे, उनकी बेटियों को उठाया जाता ही रहे

अब मुनव्वर राणा साफ़ कह रहा है की ये भी गर्दनें काटेगा, यहाँ आपको बता दें की मुनव्वर राणा न ही गरीब है और न ही अनपढ़, ये एक पढ़ा लिखा और अमीर शख्स है, पर सोच आतंकवादियों वाली ही है 

इन लोगो को हिन्दू धर्म पर जोक बनाने, हिन्दू देवी देवताओं पर आपत्तिजनक टिपण्णी करने की पूरी आज़ादी चाहिए पर दुसरों का ये गला काटने के लिए तैयार बैठे है