आज है कमलेश तिवारी की पुण्यतिथि, मुस्लिम आतंकवादियों ने धोखे से आज ही उतारा था मौत के घाट


कमलेश तिवारी, एक ऐसा हिन्दू जिसे आज 18 अक्टूबर के ही दिन मौत के घाट उतार दिया गया, उन्होंने मोहम्मद पर कथित तौर पर टिपण्णी की थी जिसके बाद धोखे से 2 मुसलमानों ने उनके ऑफिस पर जाकर उन्हें मौत के घाट 

एक मुस्लिम आतंकवादी ने हिन्दू नाम से फेसबुक प्रोफाइल बनाई थी और कमलेश तिवारी से संपर्क किया था, वो खुद को हिन्दू कार्यकर्ता बताता था, वो कई दिनों से कमलेश तिवारी को मेसेज कर रहा था, कमलेश तिवारी धोखे में आ गए और उन्हें लगा वो एक हिन्दू कार्यकर्त्ता है 

कमलेश तिवारी ने उसे मिलने का समय दे दिया और वो मुस्लिम आतंकवादी अपने एक और साथी के साथ भगवा वस्त्र पहनकर लखनऊ में कमलेश तिवारी के दफ्तर पहुंचा, जैसे ही दोनों ने देखा की कमलेश तिवारी अकेले है उन्होंने चाक़ू निकालकर उनपर हमला कर दिया 

कुल 15 बार दोनों ने कमलेश तिवारी को चाकू से मारा और उनके गली को रेतकर काट डाला, आतंकवादियों ने उन्हें 1 गोली भी मारी और फिर भाग खड़े हुए, इन आतंकवादियों का नाम अशफाक शेख और दुसरे का नाम फरीदुद्दीन था 

इन दोनों आतंकवादियों की मदद कुछ और मुसलमानों ने भी की थी, दोनो को मदरसे में शरण भी मिली थी, कमलेश तिवारी को आज 18 अक्टूबर के दिन ही इस्लामी आतंक का शिकार बनना पड़ा 

आज उनकी पुण्यतिथि है और इश्वर से प्रार्थना है की उनकी आत्मा को वो शांति प्रदान करें, ॐ शांति शांति शांति