यूपी नहीं आना चाहता अतीक अहमद, गाड़ी पलटने का डर, वकीलों ने लगाई कोर्ट से गुहार


मुख़्तार अंसारी, अतीक अहमद इत्यादि एक समय में उत्तर प्रदेश में आतंक और खौफ का दूसरा नाम थे, उन उन्मादी दहशतगर्दो से प्रदेश में लोग कांपते थे, इनके गैंग सक्रीय थे और सपा-बसपा का इनको फुल सपोर्ट मिलता था क्यूंकि उन्मादी समाज भी इनके साथ खड़ा रहता था 

पर योगी राज में ये दहशतगर्द खुद दहशत में है, अतीक अहमद जो की फ़िलहाल गुजरात की जेल में बंद है अब उसके वकील कोर्ट से गुहार लगा रहे है की सुनवाई के लिए अतीक अहमद को गुजरात से यूपी न लाया जाये बल्कि विडियो कांफ्रेंस के जरिये ही सुनवाई की जाये 

अतीक अहमद ने वकीलों ने जरिये कहा की उसे उत्तर प्रदेश में आने से जान का खतरा है, रस्ते में उसे मार डाला जायेगा, ऐसे में कोर्ट विडियो कांफ्रेंस के जरिये ही सुनवाई करे 

अतीक अहमद सुप्रीम कोर्ट के 23 अप्रैल 2019 के आदेश के बाद से ही गुजरात के अहमदाबाद जेल में बंद है, उसे एक केस की मामले की सुनवाई के लिए प्रयागराज लाया जाना है, अतीक अहमद का कहना है की यूपी पुलिस उसे गाडी से अहमदाबाद से प्रयागराज लेकर जाएगी 

कोर्ट में अतीक ने कहा की - अहमदाबाद से प्रयागराज की दूसरी 1400 किलोमीटर से भी ज्यादा है, और ऐसे में उसकी गाडी पलट सकती है, या उसे किसी दुसरे तरीके से जान से मारा जा सकता है, ऐसे में कोर्ट विडियो कांफ्रेंस के जरिये ही सुनवाई पूरी करे 

अतीक अहमद ने इसके अलावा कोर्ट से ये भी कहा है की वो अभी बहुत बीमार भी अहि उसे रीढ़ की हड्डी से लेकर किडनी तक की समस्या है, उसे ब्लड प्रेशर भी है और शुगर भी, इसके अलावा गाड़ी से यूपी लाये जाने में जान को खतरा भी है इसी कारण विडियो क कांफ्रेंस के जरिये ही सुनवाई की जाये 

देखना ये होगा की कोर्ट अतीक अहमद की मांग को स्वीकार करती है या नहीं, इस से पहले एक मामले में सुनवाई के लिए मुख़्तार अंसारी को भी पंजाब से यूपी लाने के लिए यूपी पुलिस की टीम गयी थी, पर पंजाब में कांग्रेस की सरकार ने मुख़्तार अंसारी को बीमार घोषित करवाकर 3 महीने के लिए अस्पताल में भर्ती करवाकर बचा लिया, अब अतीक अहमद भी गुजरात से यूपी नहीं आना चाहता