फ़्रांस ने 118 पाकिस्तानी मुसलमानों को देश से भगाया, 183 का वीजा रद्द, पाकिस्तानियों पर बैन की तैयारी


भिखमंगे आतंकवादी देश पाकिस्तान ने इस्लाम के नाम पर दुनिया भर में आतंक पहले से मचाया हुआ था, इसी बीच फ़्रांस के खिलाफ भी पाकिस्तान ने जहर उगलना शुरू कर दिया 

अपने देश में हिन्दुओ, सिखों, ईसाईयों का जीना मुश्किल कर चुके पाकिस्तान ने सेकुलरिज्म पर फ़्रांस को ज्ञान देने की कोशिश की, पाकिस्तानी नेताओं ने फ़्रांस पर परमाणु हमले तक की मांग कर डाली, जबकि पाकिस्तान के पास न ही ऐसे फाइटर जेट है और न ही मिसाइल जो फ़्रांस तक परमाणु बम दाग सके

पाकिस्तान ने अपने संसद में एक प्रस्ताव भी पास कर दिया जिसके जरिये फ़्रांस में पाकिस्तानी राजदूत को वापस बुलाने का निर्णय लिया गया, बाद में पता चला की फ़्रांस में तो पाकिस्तान का कोई राजदूत है ही नहीं

पाकिस्तानी मौलानाओं ने भी फ़्रांस के खिलाफ जमकर इस्लामिक जहर उगला और जिहाद की बात कही, पाकिस्तान के एक मदरसे में तो कुरआन पढ़ाने के बाद मुसलमान बच्चो को फ़्रांस के राष्ट्रपति मक्रों का सर काटने का तरीका भी सिखाया गया 

फ़्रांस की सरकार भी हर चीज पर नजर रखे हुए है और अब इसका रिजल्ट भी आने लगा है 
फ़्रांस ने अपने देश से 118 पाकिस्तानी मुसलमानों को बाहर भगा दिया है, उन सबको पाकिस्तान जाने वाली फ्लाइट्स में बिठा दिया गया है, इसके साथ साथ फ़्रांस ने 183 पाकिस्तानी मुसलमानों का वीजा भी रद्द कर दिया है 

फ़्रांस की विपक्ष की नेता मरीन ला पेन ने पाकिस्तान पर बैन लगाने की मांग भी सरकार से कर दी है, जानकारी के अनुसार फ़्रांस पाकिस्तान पर बैन भी लगा सकता है जिसके बाद पाकिस्तानी नागरिक फ़्रांस नहीं जा सकेंगे 

पाकिस्तान फ़्रांस के बायकाट की भी बात कर रहा है जबकि सच ये है की पाकिस्तान का फ़्रांस के साथ व्यापार न के बराबर है,पाकिस्तानी बायकाट से फ़्रांस को तनिक भी फर्क नहीं पड़ने वाला, फ़्रांस भी इस बात को समझता है और उसने इसी कारण 118 पाकिस्तानी मुसलमानों को देश से बाहर फेंक दिया