आतंकी जाकिर और आतंकी दावूद की मुंबई में कई इललीगल प्रॉपर्टीयां, कांपती है शिवसेना इन्हें टच करने से


मुंबई की नगरपालिका जिसे BMC कहते है उसपर कई दशकों से शिवसेना का ही कण्ट्रोल है, राज्य में अभी शिवसेना का ही मुख्यमंत्री है, और इसी सरकार ने कंगना रानौत का ऑफिस 24 घंटे में तोड़ दिया 

ऑफिस काफी दिनों से बना हुआ था, पर आजतक BMC को ये इललीगल नहीं लगा, कंगना ने पालघर के साधुओं और सुशांत के लिए न्याय माँगा, ड्रग्स माफिया के खिलाफ बोलना शुरू किया तो शिवसेना को मिर्ची लगनी शुरू हो गयी 

सिर्फ 24 घंटे में कंगना के ऑफिस को गैर क़ानूनी बताकर तोड़ दिया गया, जबकि राज्य में हाई कोर्ट ने किसी भी निर्माण के तोड़ने पर 30 सितम्बर तक रोक लगाई हुई है 

पर शिवसेना एक महिला पर मर्दानगी दिखाना चाहती थी और उसने उस महिला का ऑफिस तब तोड़ दिया जब वो महिला प्लेन में थी 

वैसे मुंबई शहर जहाँ BMC नगरपालिका की भूमिका में है वहां हजारों नहीं बल्कि लाखों निर्माण गैरकानूनी है, इस मुंबई शहर में तो आतंकवादियों की भी प्रॉपर्टीयां है 

इन आतंकवादियों में कुख्यात आतंकवादी जाकिर नाइक और आतंकवादी दावूद इब्राहीम भी शामिल है, दावूद इब्राहीम की प्रॉपर्टी जो की भिन्डी बाजार में है और जिसका नाम मुसाफिरखाना है उसे तोड़ने का आदेश तो हाई कोर्ट भी दे चूका है पर शिवसेना दावूद इब्राहीम से इतना कांपती है की आजतक उसकी गैर क़ानूनी प्रॉपर्टी को तोडना तो दूर टच करने की भी हिम्मत नहीं की 




मुंबई में आतंकवादी जाकिर नाइक की भी 2 गैर क़ानूनी प्रॉपर्टी है, पर शिवसेना ने आतंकवादी जाकिर की गैर क़ानूनी प्रॉपर्टी को भी आजतक टच करने की हिम्मत नहीं दिखाई 

शिवसेना ने सिर्फ एक महिला को ही अपनी मर्दानगी दिखाई, शिवसेना आतंकवादी जाकिर और आतंकवादी दावूद के सामने पूरी तरह नपुंसक हो जाती है