"मैं तो मुसलमानों को भाई से ज्यादा मानता था, फिर भी मेरा घर जला दिया" : दलित MLA श्रीनिवास मूर्ती


11 अगस्त की रात को 60 हज़ार के करीब मुसलमानों की भीड़ बुलाई गयी, कुछ ही समय में मुसलमानों की भीड़ ने कांग्रेस के दलित विधायक श्रीनिवास मूर्ती का घर घेर लिया 

अल्लाह हु अकबर चिल्लाते हुए दलित विधायक का घर फूंक दिया गया, दलित विधायक के घर वालो पर जान लेवा हमले किये गए, बड़ी मुश्किल से उनकी जान बच सकी 

अब श्रीनिवास मूर्ती अपने जले हुए घर पहुंचे और उसे देखकर भावुक हो गए, दलित विधायक ने कहा की - मैं तो पिछले 25 सालों से राजनीती में हूँ और मुसलमानों को भाई से भी बढ़कर मानता था, मैंने इफ्तार पार्टियाँ दी, ईद बकरीद मनाये, फिर भी मेरा 50 साल पुराना घर जला डाला 

दलित विधायक ने बताया की मैं 4 बार से विधायक हूँ, और हर बार मैंने मुसलमानों के लिए काम किया है, मेरी विधानसभा में मैंने मुसलमानों की हर समस्या को दूर किया है, इसके बाबजूद मुझे नहीं बक्शा गया


दलित विधायक ने बताया की मेरा घर 50 साल पुराना था जिसमे मैं अपने माता पिता और परिवार के साथ रहता था, पर आज इस घर को पूरी तरह राख कर दिया

दलित विधायक ने ये भी कहा की - एक विधायक के साथ ऐसा हो सकता है तो किसी आम आदमी के साथ क्या होगा