बेंगलुरु : नसीरुद्दीन शाह ने जाकर जहाँ भड़काया था, मुसलमानों ने वहीँ दलित का घर राख किया, वहीँ मचाया आतंक


11 अगस्त को बेंगलुरु में मुस्लिम भीड़ ने दलित विधायक के घर पर हमला बोल दिया, प्रत्यक्षदर्शी ने बताया की कुछ सौ नहीं बल्कि 60000 के करीब मुसलमानों की भीड़ ने उत्पात मचाया 

दलित विधायक का घर जलाया गया, पुलिस स्टेशन पर हमला किया गया, 300 से ज्यादा गाड़ियों को जलाकर राख कर दिया गया, 4-5 घंटे तक लगातार आतंक मचाया गया, इस दौरान अल्लाह हु अकबर के नारे भी लगाये गए 

ये सबकुछ बेंगलुरु के पूर्वी हिस्से में घटित हुआ, इस स्थान पर एक पार्क है जिसका नाम बिलाल बाग़ है, बिलाल बाग़ में नसीरुद्दीन शाह 14 फ़रवरी 2020 को गया था 

नसीरुद्दीन शाह ने इसी स्थान पर जाकर 14 फ़रवरी को भाषण दिया था और कहा था की सड़क पर उतरने के लिए किसी से इज़ाज़त लेने की जरुरत नहीं है, नसीरुद्दीन शाह बिलाल बाग़ में CAA का विरोध करने के लिए गया था 

मजहबी उन्मादियों को जमा किया गया था और उनके सामने नसीरुद्दीन शाह ने जहर उगला था और मुसलमानों को भड़काया था 

बिलाल बाग़ बेंगलुरु के टेनरी रोड के पास है और ये इलाका हल्ली थाने से 5 किलोमीटर की दुरी पर है, ये वही पुलिस थाना है जिसपर मुसलमान भीड़ ने कल 11 अगस्त को हमला किया और 300 गाड़ियों को जला दिया 
नसीरुद्दीन शाह ने यहाँ किस तरह से जहर उगला ये आप ऊपर के विडियो में देख सकते है, इस स्थान पर मुसलमान भीड़ को नसीरुद्दीन शाह ने भड़काया था और यहाँ मजहबी उन्माद फैलाया गया था, और 11 अगस्त को इसी स्थान पर 60000 की मुस्लिम भीड़ ने जमा होकर दलित विधायक का घर राख कर दिया और उसके परिवार वालो का बुरा हाल कर दिया