पाकिस्तान से जान बचाकर आये थे हिन्दू, जोधपुर में 11 हिन्दुओ की हत्या, यहाँ भी नहीं जीने दिया गया


अगर खबर ये होती की - "जम्मू में 11 रोहिंग्यों की मौत" या "जम्मू में 11 रोहिंग्यों की हत्या" तो आप यकीन मानिये अभी तक ये घटना इंटरनेशनल लेवल पर सुर्खियाँ बन चुकी होती 

पाकिस्तान में हिन्दुओ की क्या स्तिथि है ये पूरी दुनिया जानती है, अपनी जान इज्ज़त और धर्म को बचाने के लिए हिन्दू पाकिस्तान से भारत की शरण में आये थे और ऐसे 11 हिन्दू जोधपुर में रह रहे थे, इनमे छोटे बच्चे और महिलाएं भी शामिल थी 

ये जोधपुर के खेतों में मजदूरी का काम कर किसी तरह अपना गुजर बसर कर रहे थे पर अब 11 हिन्दुओ की लाश मिली है, इन हिन्दुओ की हत्या कर दी गयी है और मीडिया इन्हें भी सुसाइड का एंगल दे रही है 

अरे भैया सुसाइड करना ही होता तो भारत आते ही क्यों, ये लोग पाकिस्तान में भी सुसाइड कर सकते थे, ये हिन्दू पाकिस्तान से यहाँ भारत में जिन्दा रहने के लिए ही आये थे 

11 हिन्दुओ का शव जोधपुर के देचू थाने के लोड़ता क्षेत्र में मिली है 
पाकिस्तान से अपनी जान बचाकर ये भारत में आये पर यहाँ भी इनको जीने नहीं दिया गया, प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है और मरने वाले हिन्दू है इसी कारण चारों ओर चुप्पी है