सरकार बंगले से सामान उठाकर अपनी माँ के ठिकाने पर पहुंचाने लगी प्रियंका वाड्रा, सरकार ने सरकारी बंगले को प्रियंका के कब्जे से छुड़ाया



35 लोधी एस्टेट दिल्ली, लगभग 3 दशकों से इस सरकारी बंगले पर प्रियंका वाड्रा ने ये कहकर कब्ज़ा कर रखा था की मैं प्रधानमंत्री की बेटी हूँ

कई एकड़ में फैले इस सरकारी बंगले पर प्रियंका वाड्रा का कब्ज़ा था पर देर सवेर मोदी सरकार ने इस सरकारी बंगले को मुक्ति दिलवा दी और प्रियंका वाड्रा के कब्जे से छुड़ा लिया 

पिछले ही दिनों सरकार ने प्रियंका वाड्रा को नोटिस दिया था और कहा था की 1 महीने में ये बंगला खाली कर दो, अगर एक महीने में बंगला खाली नहीं किया तो सरकार आगे की कार्यवाही करेगी 

ये बंगला मूल रूप से सांसदों, मंत्रियों के लिए बना है पर प्रियंका वाड्रा न मंत्री है और न कहीं की सांसद पर 3 दशकों से बंगले पर कब्ज़ा जमाये हुए थी

बंगला खाली करने का नोटिस मिला तो कांग्रेस के नेता बिलबिलाने लगे और कहने लगे की मोदी राजनीती कर रहा है पर सरकार फिर भी दबाव में नहीं आई और आख़िरकार अब प्रियंका वाड्रा ने बंगला खाली कर दिया है 

प्रियंका वाड्रा ने 35 लोधी एस्टेट से सामान उठाकर अपनी माँ के ठिकाने यानि 10 जनपथ पर पहुंचाना शुरू कर दिया है, 10 जनपथ भी सरकारी बंगला है जिसपर सोनिया गाँधी ने कई दशकों से कब्ज़ा जमा रखा है, ये बंगला प्रधानमंत्री के आवास से भी ज्यादा बड़ा है 
बता दें की प्रियंका वाड्रा के पति पर जमीन हड़पने के कई मामले चल रहे है इसके अलावा प्रियंका वाड्रा की माँ सोनिया गाँधी और भाई राहुल गाँधी दोनों घपले और घोटालों के केस में जमानत पर बाहर है full-width