दुनिया खड़ी हुई भारत के साथ, पर कांग्रेस खड़ी हुई चीन के साथ, कहा - "जिनपिंग नहीं बल्कि मोदी मांगे माफी"



यह वह समय है जब पूरी दुनिया में चीन के विरुद्ध एक जबरदस्त आक्रोश की लहर फैली हुई है। अमेरिका रूस ऑस्ट्रेलिया ताइवान वियतनाम जापान जैसे देशों ने तो खुलकर चीन को सबक सिखाने के लिए भारत का साथ देने का मन बना लिया है तो वहीं ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस ने तो अपनी सैन्य शक्ति ही उतारने का परोक्ष रूप से ऐलान कर दिया है। 

ब्रिटेन ने चीन को सुधारने की चेतावनी दी है फिलीपींस ने साफ-साफ कहा है कि चीन बाजना आया तो अनर्थ हो जाएगा। संयुक्त राष्ट्र संघ में भी चीन की कोई दाल नहीं गली और भारत का ही पक्ष मजबूत रहा। पूरी दुनिया ने इसे नरेंद्र मोदी के सफल कूटनीति माना लेकिन अगर कहीं एक जगह नरेंद्र मोदी का खुलकर विरोध है तो वह है भारत और भारत के ही अंदर कुछ गिने-चुने राजनीतिक दल जिसमें विपक्ष की प्रमुख पार्टी कांग्रेस मुख्य रूप में है।

इन्हीं हरकतों के चलते पिछले कुछ समय से जनता इतनी आक्रोशित थी की जौनपुर में वकीलों ने तो राहुल गांधी के खिलाफ राष्ट्रद्रोह की याचिका दाखिल कर दी थी। लेकिन इसके बावजूद भी कांग्रेस संभवत जनाक्रोश को ठीक ढंग से भाप नहीं पा रही हो और नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपने आक्रामक तेवर ज्यों के त्यों जारी रखे हुए। 

इसी क्रम में अब राहुल गांधी के बाद मोर्चा संभाला है कांग्रेस के कद्दावर नेता और प्रवक्ता पवन खेड़ा ने   जिन्होंने आधिकारिक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कांग्रेस का पक्ष रखा  और हैरानी की बात यह है कि उसमें उन्होंने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बजाय सीधे-सीधे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से माफी मांगने की मांग कर डाली है। एक बार फिर से कांग्रेस के इस बयान से और कांग्रेस की इस मांग से चीन की सरकार में   खुशी की लहर देखने को मिल रही है।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा (Pawan Khera) यहीं पर नहीं रूके। उन्होंने कहा, 'उन्होंने ये भी कहा कि 'पीएम Narendra Modi राष्ट्र को संबोधित कर के भारत को विश्वास में लें व देश से माफी मांगे.. जबकि उधर भारत और चीन (India-china galwan Valley) के बीच तनावपूर्ण स्थिति आज से कुछ सामान्य होती दिख रही है। भारत की ओर से राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) ने मोर्चा संभाला और अपने चीनी समकक्ष से बातचीत की। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक रात तकरीबन दो घंटे तक दोनों शीर्ष अधिकारियों के बीच बातचीत हुई और उसके बाद चीन की सेना गलवान घाटी से पीछे हटने को मजबूर हुई। इस मामले पर अब कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा (Congress pawan Khera) ने सोमवार को पीएम से माफी मांगने को कहा। गुमराह करने का आरोप चीन के बजाए कांग्रेस प्रवक्ता ने सीधे-सीधे भारत की सरकार पर लगाया है। full-width