भारतीय सेना से पीटने के बाद नीचता पर उतरा जिनपिंग, चीनी रेस्टोरेंट्स में हिन्दुओ के घुसने पर लगा रहा रोक



चीन एक ऐसा देश है जहाँ दलाई लामा एक आतंकवादी घोषित है वहीँ मसूद अजहर एक धार्मिक संत घोषित है, चीन एक आतंकवादी देश है और उसकी हरकतों से ये बात लगातार साबित हो रही है 

अपने वायरस से दुनिया भर में आतंक मचाकर चीन ने लाखों लोगो की जान ली है, इसके अलावा अपने तमाम पडोसी देशों की जमीनों पर कब्जे का षड्यंत्र भी किया है, अभी भारत ने पिछले दिनों चीनी सेना को रौंद दिया तो अब चीन अपनी असल नीचता पर उतर आया है

चीन ने अब हिन्दुओ के खिलाफ नस्लीय नफरत शुरू कर दी है, इस से पहले कोरोना वायरस को लेकर वो चीन के अन्दर अफ़्रीकी लोगो के खिलाफ नस्लीय नफरत फैला रहा था, अब चीन भारत से पीटने के बाद उसका बदला चीन में हिन्दुओ से लेने लगा है 

जानकारी ये सामने आई है की चीन के अन्दर अब हिन्दुओ को तरह तरह से तंग किया जा रहा है, उनके खिलाफ नफरत वाले पोस्टर और बैनर लगाये जा रहे है 

यूरोप इत्यादि में भी चीन के कई सारे रेस्टोरेंट्स है वहां पर तो बाकायदा बोर्ड लगा दिए गए है की रेस्टोरेंट्स में हिन्दुओ का घुसना मना है 
एक बोर्ड आप तस्वीर में देख सकते है, इसमें चीनी और अंग्रेजी भाषा में लिखा है की - हिन्दुओ का घुसना मना है, ये खुलेआम नस्लीय नफरत है जिसका प्रदर्शन चीन ने शुरू कर दिया है 

चीन एक नीच देश है, दुसरे देशों पर हमला करता है, और पिट जाता है तो अपनी औकात पर उतर जाता है और भारतीय सेना से गलवान में पीटने के बाद अब चीन हिन्दुओ पर अपनी हेकड़ी दिखा रहा है full-width