US इंटेलिजेंस ने कहा - लद्दाख में भारतीय सेना ने अनुभवहीन चीनी सेना को अच्छा मजा चखाया, चीन के ज्यादा सैनिक मारे गए है



चीन ने भारत को 1962 वाला भारत समझकर भारतीय सैनिको पर हमला किया, पर उसका जो जवाब भारतीय सेना ने दिया उसकी उम्मीद चीन को भी नहीं थी 

चीन के 40-50 सैनिक मारे गए है, और चीन के अन्दर से तो अब 63 तक का आंकड़ा सामने आ रहा है, चीन में लाशों के ढेर लग चुके है और चीन की स्तिथि ये हो चुकी है की किरकिरी न होने के डर से वो आंकड़े तक नहीं बता पा रहा 
वहीँ अमेरिकी इंटेलिजेंस ने भी अपनी रिपोर्ट सामने रखी है और कहा है की 15 जून को लद्दाख बॉर्डर पर चीन और भारतीय सेना के बीच भिडंत हुई है और इस भिडंत में चीन को ही ज्यादा नुक्सान उठाना पड़ा है 

अमेरिकी इंटेलिजेंस ने कहा है की - चीन के 35 से ज्यादा कन्फर्म सैनिक मारे गए है और ये आंकड़ा अभी बढ़ भी सकता है 

अमेरिकी इंटेलिजेंस ने ये भी कहा की - चीन की सेना पहाड़ों की लड़ाई में अनुभव हीन है, चीनी सेना के पास लम्बे समय से युद्ध लड़ने का भी कोई अनुभव नहीं है और लद्दाख में भारतीय सेना ने चीन की अनुभवहीन सेना को अच्छा मजा चखाया है

अमेरिकी इंटेलिजेंस ने माना है की भारत के सैनिको की पोजीशन लद्दाख में ज्यादा बेहतर है, भारतीय पोस्ट्स भी अच्छे स्थानों पर है और यहाँ चीन को मार खानी ही पड़ेगी यहाँ भारतीय सेना दुनिया में सबसे बेहतर और मजबूत है full-width