UPA-2 में चीन को 640 SQKM जमीन सौंपने वाले मनमोहन ने कहा - अपनी जबान पर कण्ट्रोल रखे मोदी



मनमोहन सिंह एक ऐसा शख्स है जिसके अन्दर आत्मा है ही नहीं, विदेशी महिला के इशारे पर कुर्सी पर बैठने और उठने वाले मनमोहन सिंह के वीडियोस सबने देखे है, जब वो कथित प्रधानमंत्री थे तब सोनिया गाँधी के सामने वो किस तरह झुकते, उठते बैठते थे, ये सब देख चुके है, मनमोहन सिंह में शर्म नाम की कोई चीज नहीं है 

और ये बात मनमोहन सिंह ने एक बार फिर साबित कर दिया, दरअसल मनमोहन सिंह अब प्रधानमंत्री मोदी को ये ज्ञान दे रहे है की चीन को किस प्रकार हैंडल करना है

खुद अपनी मालकिन के इशारे पर बोलने वाले मनमोहन सिंह ने मोदी को ये बताया की कैसे बोलना है और कैसे नहीं 

चीन को लेकर मनमोहन सिंह ने बयान जारी किया है और कहा है की - मोदी अपने शब्दों पर ध्यान दे, जब राष्ट्र की सुरक्षा का मुद्दा होता है तो मोदी अपनी जबान पर कण्ट्रोल रखे और शब्दों पर ध्यान दे 

चीन पर मनमोहन सिंह मोदी को ज्ञान दे रहे है, ये अपने आप में एक आश्चर्यजनक मुद्दा है, क्यूंकि मोदी से पहले मनमोहन सिंह साल 2004 से लेकर 2014 तक स्वयं प्रधानमंत्री के पद पर थे

इस दौरान UPA-2 यानि साल 2009 से 2014 के बीच चीन ने पूरी लद्दाख के 640 स्क्वायर किलोमीटर के बड़े इलाके पर कब्ज़ा कर लिया था, मनमोहन सिंह की सरकार चीनी कब्जे पर एकदम चुप रही, और भारतीय सेना के भी हाथ बांधे रखे

जिस मनमोहन सिंह ने चीन द्वारा भारत के 640 स्क्वायर किलोमीटर जमीन पर कब्जे को लेकर प्रधानमंत्री पद पर रहते कुछ नहीं बोला, वो अब मोदी को सिखा रहे है की चीन को कैसे हैंडल करना है  full-width