भारतीय सेना ने लद्दाख में वो ब्रिज बनाया जिसे रोकने की मांग कर रहा था चीन, POK के साथ अक्साई चीन पर है अब भारत की नजर



भारत ने भी अपना लक्ष्य बना लिया, आज भारत में राष्ट्रवादी विचारधारा के लोगो की सरकार है, और इस विचारधारा का एक अहम् लक्ष्य है अखंड भारत

और अखंड भारत का ही हिस्सा है सम्पूर्ण जम्मू कश्मीर और लद्दाख, जम्मू कश्मीर के एक बड़े भूभाग पर पाकिस्तान का कब्ज़ा है इस कब्जे को POK कहते है, पर इसके साथ साथ लद्दाख के एक बड़े भूभाग पर चीन का भी कब्ज़ा है और इसे कहते है अक्साई चीन

POK और अक्साई चीन दोनों पर ही नेहरु की मदद से पाकिस्तान और चीन ने कब्ज़ा कर लिया, पर आज की भारत सरकार सम्पूर्ण जम्मू कश्मीर और लद्दाख के सपने को पूरा करना चाहती है और इसके लिए जरुरी है तैयारी

और तैयारी के लिए जरुरी है सड़क, परिवहन, सेना की मूवमेंट के लिए ये सबसे अहम् चीज है, और भारत जम्मू कश्मीर और लद्दाख में हर तरफ रोड बना रहा है

चीन भी इसे समझ रहा है और चीन को भारत से डर लग रहा है और इसी कारण पिछले दिनों चीन ने भारत को एक ब्रिज पर काम रोकने की धमकी दी थी

ये ब्रिज गलवान वैली के इलाके में ही है, इस स्थान को कोड वर्ड में PP14 कहते है, चीन धमकी दे रहा था की भारत तुरंत ब्रिज का काम रोक दे, पर मोदी सरकार ने काम को और तेज कर दिया

और अब खबर ये सामने आई है की सेना ने पहले से भी ज्यादा तेजी से काम किया और PP14 में वो ब्रिज बना लिया गया है जिसे रोकने की मांग कर चीन धमकी दे रहा था
भारतीय सेना अब इस ब्रिज का वैसे ही इस्तेमाल करेगी जैसे अन्य ब्रिज और सड़कों का इस्तेमाल करती है, भारत ने इस ब्रिज को पूरा कर चीन को सन्देश दे दिया है की आज का भारत नेहरु वाला भारत नहीं है जो चीन के कहने से कोई काम रोकेगा

आज भारत की सेना के पास न हथियारों की कोई कमी है और न आज की भारत सरकार के पास इक्षाशक्ति की कोई कमी है, आज भारत अपने मन मुताबिक चलेगा, भारत की सेना को आज सरकार मजबूत कर रही है और कुछ ही समय में POK भी भारत के पास होगा और अक्साई चीन भी full-width