महिला पत्रकार को एन्जॉय करवाता रहा केजरीवला वहीँ LNJP अस्पताल के बाहर इलाज न मिलने से तड़प तड़प के मर गया कोरोना पीड़ित



दिल्ली का मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जो खुद को आम आदमी कहता है, वो सोशल मीडिया पर महिला पत्रकार को एन्जॉय करवाता रहा

जबकि दिल्ली की ही एक नागरिक उसी समय सोशल मीडिया पर उस से मदद मांगती रही, और उसके पिता दिल्ली सरकार के बाहर इलाज न मिलने से कोरोना से तड़प तड़प के मर गए, पर केजरीवाल महिला पत्रकार को एन्जॉय करवाने में ही व्यस्त रहा

पहले तो आप केजरीवाल की हरकत देख लीजिये, 12 बजकर 37 मिनट पर कथित पत्रकार सागरिका घोसे उसे टैग कर बोली की - केजरीवाल नाइ की दुकाने खुलवा दो, मुझे बाल कटवाने है

अगले ही मिनट 12 बजकर 38 मिनट पर केजरीवाल ने उसे मैसेज किया - प्लीज हेयर कट एन्जॉय करो



वहीँ दिल्ली की एक नागरिक अमरप्रीत 4 जून को सुबह 8 बजकर 5 मिनट पर केजरीवाल को टैग कर मदद मांगती रही, उसने केजरीवाल और सिसोदिया को टैग करके मदद मांगी और लिखा की उसके पिता की स्तिथि बेहद ख़राब है, उनको कोरोना है, वो तड़प रहे है और वो LNJP अस्पताल के बाहर है

पर केजरीवाल ने इस महिला को न कोई रिप्लाई दिया न ही इस महिला की कोई मदद की गयी और 1 घंटे बाद इसके पिता LNJP अस्पताल के बाहर कोरोना से तड़प तड़प के मर गए, वो बच सकते थे पर उनका इलाज ही नहीं किया गया

अमरप्रीत ने 9 बजकर 8 मिनट पर यानि ठीक 1 घंटे बाद बताया की उसके पिता की मृत्यु हो गई, सरकार ने उनकी कोई मदद नहीं की 

केजरीवाल जो महिला पत्रकार को 1 मिनट में ही एन्जॉय करवा रहा था वो 1 घंटे तक में दिल्ली के एक आम नागरिक को जवाब नहीं दे सका और न ही उसके पिता को केजरीवाल द्वारा संचालित अस्पताल में इलाज मिला और वो तड़प तड़प के मर गए full-width