खुलासा : JNU वालो ने फ्रॉड कर 57 लाख रुपए का किया गबन, केंद्रीय जांच टीम ने पकड़ा फ्रॉड



दूसरों को नैतिकता का पाठ पढ़ाने वाले, लोकतंत्र बचाने, ईमानदारी, गरीब मजदुर की बात करने वाले वामपंथी ही सबसे ज्यादा अनैतिक, भ्रष्ट, गरीब, मजदुर विरोधी और बईमान होते है और फिर ये बात साबित हो रही है 

JNU जहाँ वामपंथियों का लगभग सभी पोस्ट्स पर कब्ज़ा है वहां 57 लाख रुपए का गबन 1 साल में फ़ोन और यात्रा बिल के नाम पर कर लिया गया 

सेंट्रल एक्सपेंडिचर ऑडिट टीम ने अपनी जांच में ये खुलासा किया है की साल 2017-18 के दौरान जब कन्हैया कुमार JNU के छात्रसंघ का अध्यक्ष हुआ करता था उस दौरान JNU के 100 से भी ज्यादा पदाधिकारियों ने सरकार के साथ बड़ा फ्रॉड किया 

इन सबने सरकार को फ़ोन और यात्रा बिल के झूठे क्लेम भेजे, सरकार इन लोगो को फ़ोन और यात्रा के लिए कई तरह की सहूलियत देती है, और उसी का फायदा उठाने  के लिए इन लोगो ने गलत तरीके से सरकार को क्लेम भेजे और बड़ा फ्रॉड किया और एक ही साल में सरकार को 57 लाख का चुना लगा दिया 
फ़ोन और यात्रा बिल के नाम पर 1 ही साल में 57 लाख रुपए का फ्रॉड के जरिये गबन किया गया, सरकार ने जब खर्चे का ऑडिट किया तो ये फ्रॉड सामने आया 

ये फ्रॉड सिर्फ 1 साल का है, और इस तरह के कितने फ्रॉड किये गए इसकी जांच की जा रही है full-width