सुशांत की मौत पर बोले मजहबी उन्मादी - "काफिर था, उसके लिए मत करो दुवा, नर्क में जायेगा वो काफ़िर"



आज एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मुंबई में मौत हो गयी, मीडिया के अनुसार उन्होंने आत्महत्या कर ली, कुछ लोग जांच की मांग भी कर रहे है

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर लोग उनको याद कर रहे है, वो एक युवा एक्टर थे और किसी को उम्मीद नहीं थी की वो इतनी जल्दी दुनिया से चले जायेंगे

सोशल मीडिया पर लोग सुशांत सिंह के लिए अपने अपने तरीके से दुवा मांग रहे है, कोई शोक व्यक्त कर रहा है, पर इसी बीच मजहबी उन्मादी फिर एक बाद अपनी मजहबी नफरत का खुलकर प्रदर्शन कर रहे है

मजहबी उन्मादी सुशांत सिंह राजपूत को काफिर बता रहे है और कह रहे है की वो एक काफिर था, वो गैर मुसलमान था, नॉन मुस्लिम था उसके लिए दुवा मत करो

आप खुद देखिये


ये कह रहा है की - सुशांत सिंह राजपूत एक काफिर था, वो मुसलमान नहीं था, और कुरान साफ़ कहता है की काफिरों के लिए दुवा नहीं करनी चाहिए, काफिर तो नर्क में जायेंगे 

और कुछ उदाहरण देखिये 







मजहबी उन्मादियों का कहना है की सुशांत सिंह राजपूत एक काफिर था, काफिरों के लिए दुवा नहीं करनी चाहिए, काफ़िर तो नर्क में जायेंगे

आप मजहबी उन्मदियों की मानसिकता देख सकते है, यहाँ आपको एक और बात बता दें की सुशांत सिंह राजपूत कोई हिंदूवादी नेता नहीं थे जिनसे मजहबी उन्मादी पहले से भड़के हुए थे

मजहबी उन्मादियों ने अपनी मजहबी मानसिकता का नंगा प्रदर्शन फिर एक बार कर दिया है full-width