हरियाणा से दिल्ली आये हुए बईमान केजरीवाल, दिल्ली तेरे अब्बू की जागीर नहीं


कोरोना वायरस फैलाने के बाद दिल्ली से देश भर के तमाम राज्यों के गरीब मजदुर पलायन कर गए, मजदूरों को भगाने में केजरीवाल की सरकार ने अहम् भूमिका निभाई 

पर यहाँ आप ध्यान रखिये की दिल्ली से 1 भी रोहिंग्या और बांग्लादेशी ने पलायन नहीं किया क्यूंकि उन सभी का पूरा का पूरा ख्याल केजरीवाल की सरकार दामाद की तरह रख रही है 

और अब हरियाणा से दिल्ली आया हुआ बईमान केजरीवाल ऐलान कर रहा है की - दिल्ली के अस्पतालों में  भारत के अन्य राज्यों के लोगो का इलाज नहीं होगा 

केजरीवाल ने आज स्वयं ऐलान करते हुए कहा की - दिल्ली में अब सिर्फ दिल्ली के अंदर वालो का इलाज होगा, दूसरे राज्यों के लोगो का इलाज यहाँ के अस्पतालों में नहीं होगा 

केजरीवाल खुद को दिल्ली वाला, दिल्ली के अंदर वाला बता रहा है और यहाँ आपको केजरीवाल की असलियत पता होनी चाहिए 

दरअसल खुद केजरीवाल दिल्ली का नहीं है, उसके सारे मंत्री और अधिकतर विधायक भी दिल्ली के नहीं है, ठगों बदमाशों बेईमानो की ये टोली जिसे आम आदमी पार्टी कहते है ये सब खुद दिल्ली में  बाहर से आकर बसे है 

खुद केजरीवाल हरियाणा से दिल्ली आया है और  ग़ाज़ियाबाद में रहता था, सिसोदिया राजस्थान से दिल्ली आया है, इनकी पार्टी का संजय सिंह  यूपी से दिल्ली आया है, ये सबके सब खुद बाहरी है 

और खुद बाहर से आकर दिल्ली में बस जाने वाले ये बईमान आज खुद को दिल्ली का मालिक घोषित कर ऐलान कर रहे है की - दिल्ली में किसी और का इलाज नहीं होगा

इन बेईमानो को जो खुद को मालिक समझ कर सत्ता भोग रहे है उन्हें पता होना चाहिए की ये खुद बाहरी है और दिल्ली इनके अब्बू की जागीर नहीं full-width