लखनऊ में चीन-पाक के समर्थन में भारत का झंडा जला रहे थे सपा से जुड़े मजहबी उन्मादी, बना रहे थे टिक-टोक विडियो


चीनी सेना ने पिछले दिनों भारतीय सैनिको पर धोखे से हमला किया, देश की रक्षा करते हुए 20 जवानों ने अपना बलिदान दे दिया, इसके अलावा पाकिस्तानी सीमा पर भी लगातार गोलीबारी चल रही है 

इस बीच लखनऊ में कुछ मजहबी उन्मादी चीन-पाकिस्तान के समर्थन में भारत का ही झंडा जलाने लगे और टिक टोक विडियो बनाने लगे 

मामला लखनऊ के टिकैतरॉय तालाब इलाके का है, जहाँ 4 मजहबी उन्मादी तिरंगा जलाकर टिक-टोक विडियो बना रहे थे, वो चीन और पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगा रहे थे, इनकी हरकत को साइकिल पर जा रहे रविकांत नाम के युवक ने देखा 

रविकांत तिरंगे को बचाने के लिए इन चारो मजहबी उन्मादियों से अकेले ही भीढ़ गया, रविकांत ने अपनी जान की कोई परवाह नहीं की, वहां से रुपेश नाम का एक युवक भी गुजर रहा था वो भी रविकांत की मदद को आ गया 

शोर मचने लगा तो वहां और लोग आ गए और 1 मजहबी उन्मादी को पकड़ लिया, 3 मजहबी उन्मादी भागने में कामयाब रहे, पकडे गए मजहबी उन्मादी को लोगो ने तोडा और फिर पुलिस के हवाले कर दिया 

बाद में समाजवादी पार्टी के नेता पुलिस स्टेशन पहुँच गए और मजहबी उन्मादी का समर्थन करने लगे और उसे छोड़ने की मांग करने लगे, थोड़े देर में पता चला की तिरंगा जला रहे मजहबी उन्मादी लड़के स्थानीय सपा नेता के रिश्तेदार है 


चूँकि प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार नहीं है इसलिए देशद्रोही मजहबी उन्मादी को छोड़ा नहीं गया 

इंस्पेक्टर बाजारखाला विजेंद्र सिंह ने बताया कि मौके से भागे तीन युवकों के बारे में भी पुलिस को जानकारी मिल गई है, जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं. इस मामले में रविकांत की तहरीर पर गंभीर धाराओं में बाजार खाला थाने में एफआईआर दर्ज हुई है.

रविकांत की तहरीर पर गंभीर धाराओं में बाजार खाला थाने में एफआईआर दर्ज हुई है. पुलिस ने आईपीसी की धारा 124(A), 153(A), 504, 505(1)(B)(2), 352, 325, 506 और राष्ट्र गौरव अपमान निवारण अधिनियम 2 के तहत केस दर्ज हुआ है. full-width