हिन्दू मंदिर के खिलाफ घृणा फैलाने के लिए कांग्रेस नेता अलका लांबा ने फिर की बेहद गिरी हुई हरकत


कांग्रेस नेता अलका लांबा ने हिन्दू मंदिर के खिलाफ नफरत फैलाने के मकसद से फिर एक बार बेहद गिरी हुई हरकत की है, वैसे अलका लांबा के लिए ये कोई नई बात नहीं है, इस से पहले भी वो गिरी हुई हरकतों को लेकर सुर्ख़ियों में रही है

कुछ ही दिनों पहले अलका लांबा देश के प्रधानमंत्री मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ अभद्र टिपण्णी कर रही थी और अब इस बार अलका लांबा ने एक हिन्दू मंदिर के खिलाफ घृणा फैलाने के लिए गिरी हुई हरकत की 

अलका लांबा ने एक त्वीट किया, पहले तो आप उनका त्वीट देखिये 


अलका लांबा ने 12 जून को हिन्दू मंदिर का एक फोटो शेयर करते हुए बताया की - हिन्दू मंदिरों को सिर्फ दान दक्षिणा लेने के लिए खोला गया है 

जिस तस्वीर को अलका लांबा ने शेयर किया उसमे दिखाया गया की हिन्दू मंदिर में लोग डिजिटल पेमेंट कर रहे है, अलका लांबा की इस करतूत की सच्चाई भी जल्द सामने आ गयी 

दरअसल जिस तस्वीर को अलका लांबा अभी का बता रही है, और ये भी बता रही है की कोरोना में हिन्दू मंदिरों को सिर्फ दान के लिए खोल दिया गया है वो तस्वीर 4 साल पुरानी है, जी हां 4 साल पुरानी 

इस तस्वीर को 2016 में खींचा गया था, और ये तस्वीर स्टॉक इमेज साईट से ली गयी है, ये तस्वीर राजस्थान के जोधपुर जिले के शास्त्री नगर के शनि मंदिर की है, और ये 2016 में खींची गयी थी

पर 2016 की तस्वीर को अलका लांबा अब शेयर कर बता रही है की हिन्दू मंदिरों को दान लेने के मकसद से खोला गया है, कांग्रेस पार्टी की इस नेता ने हिन्दू मंदिरों के खिलाफ घृणा फैलाने के मकसद से ये हरकत की ताकि लोग मंदिरों को दान कमाने वाले स्थल समझकर उनसे घृणा करना शुरू कर दे full-width