कश्मीर के अनंतनाग में मजहबी उन्मादियों ने हिन्दू सरपंच को मौत के घाट उतारा, नहीं जीने देंगे हिन्दुओ को


सरपंच अजय पंडिता को सिर्फ इसलिए मौत के घात उतार दिया गया क्यूंकि वो हिन्दू थे, इसके अलावा उनका कोई और दोष नहीं था और मजहब उन्मादी मजहबी बहुल इलाकों में हिन्दुओ को जीने नहीं देंगे 

कश्मीर में मजहबी उन्मादी हिन्दुओ को जीने नहीं देंगे ये उन्होंने एक बार फिर साबित कर दिया, चाहे 1990 हो या 2020 हिन्दुओ के लिए कश्मीर में कोई जगह नहीं है 

आज जम्मू कश्मीर में मजहबी उन्मादियों ने अनंतनाग जिले के एक हिन्दू सरपंच अजय पंडिता को मौत के घाट उतार दिया, मजहबी उन्मादियों ने उन्हें गोली मार दी, क्यूंकि वो हिन्दू थे और हिम्मत कर रहे थे अनंतनाग में आने, रहने की, जीने की  

ये अजय पंडिता का पहचान पत्र है 



1990 के दौर में मजहबी उन्मादियों ने कश्मीर से लगभग सभी हिन्दुओ को मार भगाया, हिन्दुओ की सम्पत्तियों पर कब्ज़ा कर लिया और आज 2020 में भी अगर कोई हिन्दू अपने गाँव, शहर में आना चाहे तो आज भी मजहबी उन्मादी उसे मौत के घाट उतार रहे है 

कश्मीर में मजहबी उन्मादी हिन्दुओ को जिन्दा नहीं रहने देंगे और अजय पंडिता को मारकर उन्होंने इसका आज फिर ऐलान कर दिया full-width