बोले अरुण गोविल - ऐ बुद्धिजीवियों, हिन्दुओ को सेकुलरिस्म और इंसानियत मत सिखाओ



हिन्दुओ के खिलाफ आये दिन जहर उगला जाता है, सेक्युलर तत्व हिन्दुओ के खिलाफ जहर उगलते है, वामपंथी हिन्दुओ के खिलाफ जहर उगलते है, मजहबी उन्मादी और मिशनरी हिन्दुओ के खिलाफ जहर उगलते है 

मूवी हो या टीवी सीरियल या हो वेब सीरीज, हिन्दुओ के खिलाफ जहर उगलना, गाय, मंदिर, हिन्दू धर्म के खिलाफ जहर उगलना एक फैशन सा है 

इसके बाबजूद हिन्दू कहीं पर चार्ली हेब्दो जैसा कुछ नहीं करता, न ही हिन्दू गोधरा की तरह कहीं ट्रेन जलाता है, न ही हिन्दू किसी का गला रेतता है, इसके बाबजूद हिन्दुओ को ही अपराधी, आतंकवादी बताया जाता है

रामायण सीरियल में श्री राम का किरदार निभा चुके अरुण गोविल ने भी ऐसे लोगो के मुहं पर जोरदार तमाचा जड़ा है जो हिन्दुओ को सेकुलरिज्म और इंसानियत सिखाते है 

देखिये उन्होंने क्या कहा 
भारत 100% हिन्दू भूमि थी, यहाँ कई धर्म बने और बाहर से भी आये फिर भी हिन्दुओ ने कभी उन धर्मो को ख़त्म नहीं किया, हिन्दू इतने उदारशील है की उन्होंने दुसरे धर्म को भी फलने फूलने दिया, जबकि किसी भी मुस्लिम देश में दुसरे धर्म को फलने फूलने नहीं दिया जाता

हिन्दू वो है जिसने पारसियों को अपने यहाँ शरण दी, यहूदियों को सबने मारा, सिर्फ हिन्दू ही अकेला था जिसने यहूदियों को भी रख लिया, इंसानियत, मानवता ये सब हिन्दुओ का नेचुरल गुण है, हिन्दू वो है जो जानवर से लेकर प्रकृति तक की पूजा करता है, पेड़ पौधों तक की पूजा करता है, कोई बुद्धिजीवी ऐसा नहीं जो हिन्दुओ को सेकुलरिज्म और इंसानियत सिखा सके full-width