लद्दाख में मारे गए चीन के 40-50 सैनिक, चीन को भयंकर नुक्सान, संख्या पर चुप हो गई है चीनी सरकार



चीनी विदेश और सुचना मंत्रालय ने लद्दाख के गलवान वैली में मारे गए चीनी सैनिको की संख्या बताने से साफ़ इंकार कर दिया है, भारतीय सेना और चीनी सेना के बीच 15 जून की रात को झड़प हुई थी 

इस झड़प में चीन को बहुत भयंकर नुक्सान पहुंचा है और कई सूत्रों के मुताबिक चीन के 40 से 50 सैनिक मारे गए है, चीन की मीडिया के संपादको और पत्रकारों ने 5 चीनी सैनिको के मरने और 11 के घायल होने की बात को स्वीकार किया है पर आंकड़ा कहीं ज्यादा है

देखिये किस प्रकार चीन के सबसे बड़े मीडिया हाउस ग्लोबल टाइम्स का मुख्य संपादक आंकड़ों पर गोल गोल बाते कर रहा है, ये कह रहा है की हम आंकड़े नहीं बताएँगे ताकि दोनों देशों के लोग तुलना न करे, हम लोग गुडविल चाहते है

हुआ ये है की - चीनी सेना और भारतीय सेना के बीच एक पहाड़ी पर झड़प हुई है और पहाड़ी पर भारतीय सैनिको की पोजीशन ज्यादा मजबूत और अच्छी थी, भारतीय सैनिको की संख्या भी अच्छी थी 

झड़प बहुत भीषण हुई, और कई चीनी सैनिको को भारतीय सैनिको ने वहीँ ढेर कर दिया और 40 से ज्यादा चीनी सैनिक पहाड़ी से नीचे खाई में गिरकर मारे गए है

चीन आंकड़े नहीं बता रहा है क्यूंकि चीन के साइड भयंकर नुक्सान हुआ है और चीन इतने बड़े नुक्सान को स्वीकार करना नहीं चाहता 
बता दें की चीन को ये उम्मीद ही नहीं थी की भारतीय सेना से झड़प पर उसका ये हाल होगा, उसके 40 से 50 सैनिक मारे गए है और इस कारण चीन के होंश उड़ गए है और इसी कारण वो शांति, गुडविल की बातें अब कर रहा है full-width