लन्दन की कोर्ट में रो पड़ा माल्या - 'अरे मैं पैसे देने को तैयार हूँ, पैसे ले लो, मेरी जान छोड़ो'



विजय माल्या के लन्दन में दिन अब पूरे हो चुके है, माल्या ने लन्दन की अदालत में अपनी आखिरी याचिका भी लगा दी और इस याचिका में भी माल्या को सफलता नहीं मिली

लन्दन की अदालत में माल्या ने याचिका लगाई थी की उसे भारत को न सौंपा जाये और भारत की याचिका को ख़ारिज कर दिया जाये, कोर्ट ने माल्या की याचिका को ही ख़ारिज कर दिया और भारत की याचिका पर सुनवाई जारी रहेगी 

इस से पहले भी माल्या ने कोर्ट में कई याचिकाएं लगाई थी और तमाम याचिकाओं को कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया 

अपनी आखिरी याचिका को लगाते हुए माल्या कोर्ट के सामने रो पड़ा, माल्या ने फिर कहा है की वो बैंकों का सारा पैसा लौटाने को तैयार है पर उसे भारत जाने के लिए मजबूर न किया जाये 

माल्या ने कहा की - मुझसे सारा पैसा ले लो, मैं पहले ही कह चूका हूँ की मैं 1-1 पैसा चुकाने को तैयार हूँ, सारा पैसा आप ले लो और मेरा पीछा छोड़ दो 

बता दें की माल्या पैसा तो वापस करना चाहता है पर माल्या ने अपराध भी किया है, लूट का अपराध और इसके लिए सिर्फ पैसा वापस करना ही नहीं बल्कि सजा काटने का भी नियम है, माल्या सजा से भागना चाहता है और इसी कारण वो अपनी आखिरी याचिका के दौरान लन्दन की अदालत में रो पड़ा 

बता दें की माल्या को तमाम लोन कांग्रेस के सरकार के समय मिला था, मोदी की सरकार आने के बाद जांच शुरू हुई तो माल्या मौका देखकर फरार हो गया, तब से भारत सरकार लगातार माल्या को देश वापस लाने के लिए लन्दन की अदालत में केस लड़ रही है और अब कदाचित माल्या के दिन पूरे हो चुके है इसी कारण वो पैसा देने को भी तैयार है और रोने भी लग गया है  full-width