नफीस से शादी करने वाली नेहा बोली - 'नहीं रही मैं कहीं की, मैं अब कहाँ जाऊं, अब मुझसे गलत काम करा रहे, दिन रात मुझे टॉर्चर कर रहे'



जबतक आप के ऊपर बीतती नहीं तबतक आप सेकुलरिज्म की जमकर बात करते हो, पर जब आप पर खुद बीत जाती है तब आपकी आँखें खुलती है, पर तबतक बहुत देर हो चुकी होती है और आप कहीं के नहीं रेप पाते 

नेहा के साथ भी ऐसा ही हुआ जो की सेकुलरिज्म का दम भरते हुए नफीस के साथ शादी कर जीवन बिताने का सोचने लगी 

नफीस अच्छी अच्छी मीठी मीठी बातें करता, नेहा को जो समझाए वो ही सांप्रदायिक लगते और सेकुलरिज्म की चैंपियन नेहा ने आख़िरकार नफीस से शादी कर ही ली 

कुछ दिनों तक नफीस ने खूब मस्ती की, दोनों ने मजे किये, पर उसके बाद धीरे धीरे नफीस ने अपनी असल स्वरुप दिखाना शुरू कर दिया 

नेहा का क्या हाल किया गया ये आप खुद नेहा के ही मुहं से सुनिए 

नेहा ने ये भी बताया की नफीस आम आदमी पार्टी से भी ताल्लुक रखता है 

अब नेहा की जिंदगी बर्बाद हो चुकी है और नेहा के मुहं से सिर्फ एक ही सवाल निकलता है की - अब मैं जाऊं तो कहाँ जाऊं full-width