काटजू बोले - रोज़ा रखूँगा, इनका ही मुस्लिम साथी बोला - काफिरों से अल्लाह नहीं होते खुश



सेकुलरिज्म की मिसाइल और देश के सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज रहे मार्कंडेय काटजू को उनके ही एक मुस्लिम साथी ने काफ़िर घोषित कर दिया

इन दिनों रमजान का महिना चल रहा है, कुछ दिनों में ईद आने वाली है और इस के साथ ही रमजान का महिना ख़त्म होगा

अब मार्कंडेय काटजू ने कहा की - ईद से पहले जो आखिरी शुक्रवार यानि इस्लामी भाषा में जुम्मा पड़ेगा उस दिन मैं रोज़ा रखूँगा

मार्कंडेय काटजू ने बताया की वो ईद से पहले जो जुम्मा होता है उसपर हमेशा रोज़ा रखते है, इसके साथ साथ मार्कंडेय काटजू ने दुसरे हिन्दुओ से भी अपील करा की वो भी रोज़ा रखे

देखिये

मार्कंडेय काटजू कह रहे थे की - मुसलमान भाइयों और बहनों के साथ आप भी रोजा रखो, मैं भी रखता हूँ और बाकि हिन्दू भी रोज़ा रखे 

इसके बाद मार्कंडेय काटजू का ही एक साथी जिसका नाम इशफाक अब्दुल्ला है उसने मार्कंडेय काटजू को जवाब देते हुए कह दिया की - काफिरों की दुवा को अल्लाह कुबूल नहीं करते, काफिरों के रोज़े को अल्लाह कुबूल नहीं करते 

मार्कंडेय काटजू सेकुलरिज्म की बात कर रहे थे, वहीँ दूसरी तरफ इशफाक अब्दुल्ला ने उनको काफ़िर घोषित कर मार्कंडेय काटजू के सेकुलरिज्म की हवा तुरंत ही निकाल दी full-width