दिनदहाड़े लूट लिया हिन्दुओ के मंदिर को, मंदिर से 5 करोड़ छीने, मंदिर के लिए हिन्दुओ ने चढ़ाया था पैसा



जबी कोई हिन्दू अपनी श्रद्धा से मंदिर जाता है और मंदिर में दान दक्षिणा करता है तो वो दान दक्षिणा सिर्फ भगवान्, मंदिर और धर्म के कल्याण के लिए करता है 

हिन्दू दान इसलिए करता है ताकि मंदिर के प्रबंधन में उस दान का इस्तेमाल हो, मंदिर की साफ़ सफाई का काम हो, भगवान् के लिए फूल माला आये, प्रसाद ख़रीदा जाये, धर्म के कल्याण के काम किये जाये 

पर सेक्युलर भारत का ये हाल है की हिन्दुओ के मंदिर को दिनदहाड़े लूट लिया गया, किसी भी दुसरे धर्म के स्थल से 1 पैसा नहीं लिया गया पर केरल की सरकार ने दिनदहाड़े हिन्दू मंदिर के 5 करोड़ रुपया छीन लिए 

सेक्युलर सरकारों ने सभी हिन्दू मंदिरों को अपने कण्ट्रोल में ले रखा है, इन सरकारों ने मंदिरों के लिए अलग अलग बोर्ड बना रखे है और उस बोर्ड में हिन्दुओ को नहीं बल्कि अपने खास लोगो को बिठा रखा है 

केरल की सरकार ने केरल के मशहूर गुरुवायुर मंदिर के लिए भी एक बोर्ड बना रखा है और इस बोर्ड ने मंदिर को दान में मिले 5 करोड़ को केरल की वामपंथी सरकार को ट्रान्सफर कर दिया है 

हिन्दुओ ने मंदिर के कल्याण के लिए दान दिया था और बोर्ड ने पैसे को फिक्स्ड डिपाजिट में जमा कर दिया था अब उसी में से 5 करोड़ रुपए सरकार को ट्रान्सफर कर दिए गए है 


हिन्दुओ के मंदिर पर केरल की सरकार ने कोरोना टैक्स लगा दिया है, यहाँ आपको ये बात बताना जरुरी है की किसी भी चर्च या मस्जिद से 1 पैसा नहीं लिया गया है, लूट सिर्फ हिन्दुओ के मंदिर से किया गया है, और इस लूट को सेकुलरिज्म भी घोषित कर दिया गया है full-width