फैक्ट चेक - कांग्रेस ने यूपी में नहीं भेजी कोई 1000 बसें, फेक न्यूज़ फैला रहा NDTV का पत्रकार उमाशंकर सिंह



राजस्थान और पंजाब सहित महाराष्ट्र जैसे राज्यों में जहाँ पर कांग्रेस की सरकारें है वहां पर कोरोना से हालात काफी बुरे बने हुए है पर उसपर प्रियंका वाड्रा ने चुप्पी साध रखी है, सिर्फ उत्तर प्रदेश पर ही प्रियंका वाड्रा को बोलना है और इसके तहत प्रियंका वाड्रा ने योगी सरकार को नीचा दिखाने के मकसद से एक बयान जारी किया 

प्रियंका वाड्रा ने कहा की - वो उत्तर प्रदेश में 1000 बसें चलाने के लिए तैयार है, राज्य सरकार उनसे 1000 बसें ले और उत्तर प्रदेश में चलाये 

प्रियंका वाड्रा ने सोचा था की वो ये बयान देकर लोगो का दिल तो जीत ही लेगी, वही सरकार थोड़े उनसे कोई बस मांगेगी, पर उत्तर प्रदेश में भी योगी सरकार है और आज योगी सरकार ने प्रियंका वाड्रा से उन 1000 बसों की लिस्ट, ड्राईवर सहित जल्द से जल्द मांग ली ताकि उनका इस्तेमाल किया जा सके 

उत्तर प्रदेश के गृह सचिव अविनाश अवस्थी ने प्रियंका वाड्रा को पत्र लिखकर उनके 1000 बसों को माँगा 


प्रियंका वाड्रा ने अबतक न 1000 बसें ही भेजी और न ही उसकी कोई जानकारी दी की ये बसें आखिर है कहाँ और इनके ड्राईवर कौन है, इस बात की पुष्टि सीधे मुख्यमंत्री द्वारा की गयी



अब प्रियंका वाड्रा की किरकिरी होने लगी तो खुद को पत्रकार घूमकर चलने वाले कई दलाल भी मैदान में उतर गए और ऐसे लोगो में NDTV का उमाशंकर सिंह भी शामिल है, ये किस प्रकार झूठ फैलाने लगा वो आप देखिये


ये तस्वीर लगाकर ये लिखने लगा की - बढ़िया खबर, कांग्रेस ने यूपी में 1000 बसें भेज दी है, अब इस तस्वीर की असलियत भी जान लीजिये 



ये तस्वीर दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार की सरकारी बसों की तस्वीरें है और साल 2019 की है, ये कुम्भ के समय की तस्वीर है 

साल 2019 की कुम्भ की तस्वीर, बसें भी उत्तर प्रदेश सरकार की पर NDTV का पत्रकार नीचता की सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए झूठ बोलने आ पहुंचा और इसे कांग्रेस द्वारा भेजी गयी बसें घोषित कर डाली