एक्शन : अमेरिका ने 1 ही झटके में चीन का 30 लाख करोड़ किया ख़त्म, 800 चीनी कंपनियों को किया बैन



अपने वायरस के जरिये दुनिया भर में आतंक और कोहराम मचाने वाले चीन की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है, चीन पर अब चारों ओर से आर्थिक एक्शन लिया जा रहा है, चीन पर आर्थिक एक्शन के अलावा सैन्य एक्शन का भी आप्शन खुल गया है 

दुनिया भर के देशों की कम्पनियाँ चीन से बाहर निकल रही है और अब अमेरिका की सीनेट ने चीन पर सबसे बड़ा एक्शन लिया है 

अमेरिका की सीनेट में चीन की 800 कंपनियों को अमेरिका के शेयर बाज़ार से बैन कर दिया है, आज ही सीनेट ने ये प्रस्ताव पारित किया है 

अमेरिकी सीनेट में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों दलों ने चीन के खिलाफ इस प्रस्ताव को पास कर दिया है, प्रस्ताव पास होने के बाद अमेरिका में चीन की कुल 800 कंपनियों को अमेरिकी शेयर बाज़ार में बैन कर दिया गया 

अमेरिका का शेयर बाज़ार दुनिया का सबसे बड़ा आर्थिक बाज़ार है, और इस बाज़ार में चीन की 800 कम्पनियाँ लिस्टेड थी, अब इन सभी 80० कंपनियों को डी-लिस्ट करवाया जायेगा, यानि अब ये 800 चीनी कम्पनियाँ अमेरिका से फंड्स नहीं ले सकेंगी 

वैल्यूएशन के आधार पर चीन को 30 लाख करोड़ भारतीय रुपए के बराबर का थप्पड़ पड़ा है, 1 ही झटके में चीन को मिलने वाला लगभग 30 लाख करोड़ रुपए रुक गया है, इन चीनी कंपनियों में अलीबाबा, बैडू जैसे कम्पनियाँ भी शामिल है 

इस से पहले डोनाल्ड ट्रम्प लगातार चीन को लेकर आक्रामक रुख अपनाये हुए है, उन्होंने 30 दिनों के भीतर WHO की भी पूरी फंडिंग रोकने की चेतावनी दी है full-width