अस्पताल में डाक्टरों और स्टाफ पर थूक रहे तब्लीगी मुस्लिम, डाक्टरों ने कहा - हमे बचाओ इनसे



दिल्ली के निजामुद्दीन और कई अन्य इलाकों से जांच और इलाज के लिए लाये गए तब्लीगी मुस्लिम अब अस्पतालों में डाक्टरों और अन्य मेडिकल स्टाफ के लिए बड़ा खतरा बन गए है, और डाक्टरों और स्टाफ ने इनसे खुद को बचाने की गुहार लगाई है 

दरअसल दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी मुस्लिमो ने मरकज़ लगाया था, और इनके जरिये अब देश में कोरोना तेजी से फ़ैल रहा है, कोरोना ज्यादा न फैले और जो संक्रमित हो चुके है उनका जांच और इलाज हो सके इसलिए सरकार ने इन्हें अलग अलग केन्द्रों में भेजा है 

पर अब जांच और इलाज कन्द्रों में काम कर रहे डाक्टरों और स्टाफ ने खुद की जान को ही खतरे में बता दिया है, शिकायत में कहा गया है की - ये लोग डाक्टरों और स्टाफ से बहुत बुरा बर्ताव कर रहे है, उल्टी चीजें खाने को मांग रहे है, जांच और इलाज केंद्र में जान बुझकर यहाँ वहां थूक रहे है, डाक्टरों और स्टाफ के साथ ये हाथापाई तक कर रहे है और उनपर भी थूक रहे है 

शिकायत में ये भी कहा गया की हमे इनसे खतरा है, या तो इनको किसी और जगह पर भेजिए या हमारी सुरक्षा और इनपर कण्ट्रोल के लिए सुरक्षाबल भेजिए 

रेलवे ने जांच केंद्र बनाया है जहाँ इनको लाया गया है, रेलवे के अधिकारी दीपक कुमार ने बताया है की ये लोग डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ के लिए खतरा बन चुके है, ये डाक्टरों और अन्य स्टाफ पर थूक रहे है और जांच और इलाज केंद्र में आतंक मचा रहे है 

दीपक कुमार ने ये भी मांग करी की या तो और सुरक्षा भेजकर इन्हें कण्ट्रोल किया जाये नहीं तो इन्हें यहाँ से किसी और जगह पर भेजा जाये