कन्नौज में मस्जिद की भीड़ ने बहाया पुलिसकर्मियों का खून, प्रार्थना कीजिये दरोगा और 2 कांस्टेबल के लिए



कोरोना वायरस (Corona Virus) के प्रकोप के चलते साेशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन लगाना पड़ा. महामारी के खिलाफ भारत की इस लड़ाई में कुछ मजहबी चरमपंथी पलीता लगा रहे हैं. ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कन्नौज (Kannauj) से आ रहा है. 

जहां जिले में धारा 144 लगी होने के बावजूद छत पर करीब 30 लोगों द्वारा सामूहिक नमाज पढ़ी गई. वहीं पुलिस ने जब रोका नमाजियों ने पत्थरबाजी कर दी, जिससे दारोगा सहित 2 सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस ने इस मामले में अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है, बाकी की तलाश की जा रही है.

यह पूरा मामला शुक्रवार दोपहर का बताया जा रहा है. जहां हाजी शरीफ चौकी क्षेत्र के मोहल्ले कागज़ीआना में एक घर मे करीब 30 लोग जुमे की नमाज के लिए इकट्ठे हुए थे. इसी दौरान चौकी इंचार्ज आनंद पांडेय, एलआइयू सिपाही राजवीर सिंह व सिपाही सौदान सिंह मोहल्ले में गश्त कर रहे थे.

 इसी दौरान उन्होने एक घर में सामूहिक नमाज कर रहे लोगों को मना किया औऱ जिले में धारा 144 लगे होने की बात भी बताई. पुलिस की बात सुनकर नमाजी भड़क गए और पत्थरबाजी करने लग गए. इस दौरान पुलिसकर्मियों ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई.

घायल चौकी इंचार्ज आनंद पांडेय एलआइयू सिपाही राजवीर सिंह व सिपाही सौदान सिंह को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सिपाहियों की हालत गंभीर बताई जा रही है. मामले की जानकारी होते ही आला अधिकारी मौके पर पहुंचे लेकिन तब तक नमाजी घटना स्थल से भाग गए थे. 

हालांकि पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते हुए 11 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. बाकी की तलाश जारी है. आला अधिकारियों का कहना है कि लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी.