पहले कहा था - मैं CAA लागू नहीं होने दूंगा, अब कह रहे - मोदी जी सिखों को बचाइए, बेशर्मी कांग्रेस स्टाइल वाली



कांग्रेस का दूसरा नाम ही बेशर्मी है, कांग्रेस नेताओं और बेशर्मी का चोली दामन का साथ है, पिछले दिनों केरल से गए मुस्लिम शख्स ने अन्य मुस्लिमो के साथ मिलकर काबुल के गुरूद्वारे पर हमला कर दिया 

इस हमले में मुस्लिम तत्वों ने 27 सिखों को मौत के घाट उतार दिया, मरने वालो में महिलाएं पुरुष दोनों शामिल थे, सिख गुरूद्वारे में प्रार्थना कर रहे थे की तभी 4 मुस्लिमो ने अल्लाह हु अकबर चिल्लाते हुए उनपर हमला कर दिया 

इस हमले में 27 सिखों की जान चली गयी और अभी भी कई अस्पतालों में इलाज के लिए भर्ती है

आपको याद होगा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन्ही सिखों और पाकिस्तान अफगानिस्तान बांग्लादेश में उनके यहाँ के अल्पसंख्यको को बचाने के लिए CAA का कानून बनाया था 

उस समय कांग्रेस के पंजाब मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने CAA का विरोध किया था, तब अमरिंदर सिंह ने कहा था की - CAA को मैं पंजाब में लागू नहीं होने दूंगा

CAA का विरोध करते हुए अमरिंदर सिंह ने पंजाब विधानसभा में CAA के खिलाफ प्रस्ताव भी पारित कर दिया था, देखिये

अब काबुल में 27 सिखों के कत्लेआम पर अमरिंदर सिंह मोदी सरकार से रिक्वेस्ट यानि निवेदन कर रहे है की अफगानिस्तान के सिखों को बचाइए 


नरेंद्र मोदी इन्ही सिखों को बचाने के लिए CAA लेकर आये थे, पर इटली की मैडम को खुश करने के लिए अमरिंदर सिंह CAA के खिलाफ जहर उगल रहे थे, अब उसी मोदी सरकार से मांग कर रहे है की सिखों को बचाइए, ये कांग्रेस के स्टाइल वाली बेशर्मी ही है और कुछ नहीं