देश को बीमार करने पर अमादा हुए उन्मादी, मौलवी बोला - मुसलमान हूँ नहीं लगाऊंगा सैनीटाईजर



मजहबी उन्मादी इस देश पर सबसे बड़ा बोझ है और सेकुलरिज्म इन मजहबी उन्मादियों को सहन कर रहा है, सेकुलरिज्म के चलते ही मजहबी उन्मादियों ने देश में उत्पाद और आतंक मचाया हुआ है

कोरोना देश भर में फ़ैल रहा है, भारत में जनसँख्या बहुत ज्यादा है और अस्पताल और बिस्तर उसके हिसाब से बेहद कम, अगर भारत में कोरोना इटली की तरह ही फ़ैल गया तो यहाँ वो तबाही मच सकती है जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता

सरकार हर कोशिश कर रही है की भारत में इस तरह की तबाही किसी भी सूरत में न मचे और इसके लिए प्रधानमंत्री से लेकर राज्य सरकारें लोगो को कई तरह की सावधानी बरतने को कह रही है, पर मजहबी उन्मादी मजहबी उन्माद में इस देश को बीमार कर तबाह और बर्बाद करने पर अमादा हो चुके है

कोरोना के साथ साथ ये मजहबी उन्मादी भी देश के लिए खतरा बन चुके है, एक मजहबी उन्मादी मौलवी ने हैण्ड सैनीटाईजर लगवाने से ही इंकार कर दिया और कहने लगा की - मैं मुसलमान हूँ मैं सैनीटाईजर नहीं लगाऊंगा

दरअसल इस मौलवी को बस में सफ़र करना था, प्रशासन इस से कह रहा था की बस में बैठने से पहले सैनीटाईजर लगा ले, पर इस मौलवी ने मजहबी उन्माद मचाना शुरू कर दिया, देखिये

अब इस मजहबी उन्मादी को अगर संक्रमण हुआ तो ये पुरे बस में संक्रमण फैला देगा, इस तरह के मजहबी उन्मादी देश को बर्बाद कर देने पर अमादा है

आपकी जानकारी के लिए बता दें की कोरोना कोई धर्म देखकर नहीं आता, तुम मुसलमान हो तो तुमको कुछ नहीं होगा ऐसा नहीं होता, ईरान और सऊदी जैसे देशों की भी इस कोरोना ने बैंड बजाकर रखा हुआ है और मुसलमानों की भी बड़े पैमाने पर मौतें हो रही है