प्रियंका वाड्रा ने खुद को 'कश्मीरी हिन्दू' बताने की करी कोशिश, खुल गयी पोल, मक्कारी वाली नई हरकत



नेहरु खानदान के लोग जो फर्जी तरीके से गाँधी सरनेम लगाकर दशको से देश के लोगो को मुर्ख बना रहे है अब इनके लिए फरेब करना आसान नहीं रह गया है, क्यूंकि सोशल मीडिया के दौर में लोग इनकी पोल को जल्दी खोल देते है

प्रियंका वाड्रा ने अब खुद को कश्मीरी हिन्दू बताने की कोशिश की है, प्रियंका वाड्रा से पहले उनके भाई राहुल गाँधी ने भी खुद को दत्तात्रेय गोत्र का ब्राह्मण बताया था, वो गोत्र जो होता ही नहीं है, अब चूँकि देश में मोदी सरकार आने के बाद से हिन्दू थोड़े बहुत एकजुट है, दोनों भाई बहन खुद को हिन्दू बताने की पूरी कोशिश करते है

प्रियंका वाड्रा ने खुद को कश्मीरी हिन्दू बताने की कोशिश की पर उनकी पोल खुल गई, देखिये

प्रियंका वाड्रा ने लोगो को बताया की - मेरी माँ यानि सोनिया गाँधी ने फ़ोन किया और "नवरोज" मानाने को बोला

दरअसल 25 मार्च को हिन्दू नववर्ष था, अलग अलग राज्यों में इसे अलग अलग नाम से मनाया जाता है, और कश्मीरी हिन्दू इसे "नवरेह" के नाम से मनाते है न की "नवरोज" के नाम से

"नवरोज" दरअसल पारसी लोगो का त्यौहार होता है न की कश्मीरी हिन्दुओ का, और इसकी तिथि हिन्दू नव वर्ष के दिन नहीं पड़ती, पर प्रियंका वाड्रा को 'नवरोज' और 'नवरेह' में बिलकुल फर्क नहीं पड़ता और ये लोगो को मुर्ख बनाने के लये कहती है की - इसकी इटालियन माँ इसे 'नवरोज' मनाने के लिए फ़ोन करती है, लोगो ने तुरंत ही प्रियंका वाड्रा की इस फर्जीवाड़े को पकड़ लिया

फर्जीवाडा करना नेहरु खानदान के लोगो का जैसे प्रमुख काम बनकर रह गया है, राहुल गाँधी खुद को दत्तात्रेय गोत्र का ब्राह्मण बताते है जबकि दत्तात्रेय गोत्र होता ही नहीं है, और प्रियंका वाड्रा फर्जी कश्मीरी हिन्दू बनने के लिए नवरेह को नवरोज बताती है जो की पारसी त्यौहार है