वुहान में हजारों लाशें जलाई जा रही एक साथ, बोर्ड पर लिखा है - अपने अपने लोगो की राख ले जाओ



ये ऊपर तस्वीर में आप जो लाइन देख रहे है ये चीन के वुहान शहर के हंकोऊ शमशान की है, चीन उन लोगो की लाशों को जला रहा है जो की कोरोना से पीड़ित थे और कोरोना से जिनकी जान गयी

चीन में कई तरह से अंतिम संस्कार होता है पर चीन ने हाल ही में लाशों को जलाकर अंतिम संस्कार करने का ऐलान किया था क्यूंकि जमीन में लाशों को दफ़न करने से वायरस जमीन में मिल जाता है वो ख़त्म नहीं होता, जबकि जलाने से ही वायरस ख़त्म होता है

वुहान वही शहर है जहाँ के करोडो लोग गायब है, घरों में लाइट नहीं जलती जो पहले जला करती थी और अब यहाँ हंकोऊ इलाके में एक बड़ा शमशान बना दिया गया है जहाँ पर अब रोज हजारों लाशें जलाई जा रही है

लोग यहाँ अपने रिश्तेदारों की लाशों का राख उठाने के लिए बुलाये गए है और रोज यहाँ हजारों की भीड़ लग रही है, यहाँ बोर्ड भी लगे हुए है जिसमे चीनी भाषा में लिखा है की - "अपने अपने लोगो की राख को ले जाओ, राख लेने के लिए 50 मीटर दूर जिंगयुआन बिल्डिंग के पास जाओ"



लाशों को चीन का प्रशासन ही जला रहा है, लोगो को अपने रिश्तेदारों के लाशों को जलाने की इज़ाज़त नहीं है, लोगो को सिर्फ उनकी राख दी जा रही है 


एक व्यक्ति अपने रिश्तेदार की राख को ले जाता हुआ 
चीन दुनिया का सबसे बड़ा झूठा देश है, यहाँ मीडिया सरकारी कण्ट्रोल में है, इन्टरनेट और सोशल मीडिया भी सरकारी कण्ट्रोल में है, चीन बड़े पैमाने पर आंकड़े छिपा रहा है, वुहान और आसपास के शहरों के 1 करोड़ 50 लाख लोग पिछले 2 महीने में गायब हुए है और वुहान में ही कई शमशान बना दिए गए है जहाँ रोजाना हजारों की लाशों को जलाया जा रहा है और उनके रिश्तेदार राख को लेने के लिए जमा होते है