कार्यवाही शुरू - 2 IAS बर्खास्त हुए, गिरफ्तार किया जा सकता है केजरीवाल और उसके कई विधायक



दिल्ली में केजरीवाल ने जो हकाकर मचाया है उसके बाद अब गृह मंत्रालय एक्टिव हो चूका है और केजरीवाल की सरकार और उसके तंत्र पर बड़ी कार्यवाही की शुरूवात की जा चुकी है 

दिल्ली में अफवाह फैलाकर, बसें लगाकर बड़े पैमाने पर केजरीवाल ने उत्तर प्रदेश और बिहार से जुड़े मजदूरों को भगाया है, सोची समझी साजिश के तहत लाखों लोगो को दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर छोड़ा गया, और इसमें डीटीसी बसों का इस्तेमाल किया गया 

अब इस हाहाकार के बाद गृह मंत्रालय ने जांच शुरू कर दी है और न केवल जांच शुरू की है बल्कि गृह मंत्रालय ने तत्काल प्रभाव से 2 आईएस अधिकारीयों को बर्खास्त कर दिया है 

गृह मंत्रालय ने दिल्ली में डीटीसी बसों को मैनेज करने वाली आईएस रेनू शर्मा और एक और आईएस राजीव कुमार को बर्खास्त कर दिया है, इसके अलावा 3 अन्य आईएस अधिकारीयों को भी नोटिस दिया गया है और जानकारी के मुताबिक इन तीनो को भी बर्खास्त किया जा सकता है 

इसके अलावा गृह मंत्रालय ने केजरीवाल और उसके कई विधायकों की जांच भी शुरू कर दी है, नॉएडा के थाने में अफवाह फैलाने के मामले में केजरीवाल के विधायक राघव चड्डा पर FIR भी लिखी जा चुकी है 

जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार ने कोरोना के दौर में केजरीवाल की इस हरकत को बहुत ही गंभीरता से लिया है और ये भी मुमकिन है की आईएस अधिकारीयों के बाद केजरीवाल और उसके कई विधायकों के खिलाफ भी सख्त कार्यवाही हो जाये, केजरीवाल और उसके विधायकों की गिरफ़्तारी भी मुमकिन है 

बता दें की कोरोना संकट काल के दौर में केजरीवाल ने दिल्ली से लाखों यूपी-बिहारियों को भगाया है इस से वायरस के बढ़ने के चांस बहुत बढ़ चुके है और केंद्र इसी चलते एक्शन के मोड़ में है और 2 आईएस अधिकारी नापे जा चुके है