हुसैन ने महिलाओं के कपडे बदलने वाले कमरे में लगाया था कैमरा, ढूंढ निकाला MNS ने और कचूमर निकाला


यहाँ चर्चा सिर्फ राज ठाकरे की पार्टी के कार्यकर्ताओं के कार्य की नहीं होनी है बल्कि चर्चा उस शाहनवाज की भी होनी है जिसने एक दूकान अथवा प्रतिष्ठान खोल कर वहां आने वाली महिलाओं के साथ ये कुकृत्य किया. 

एक ही नही न जाने कितनी महिलाएं उस शाहनवाज का शिकार बन चुकी होंगी जिसकी जांच अब पुलिस कर रही होगी और उन महिलाओं से ब्लैकमेल कर के किया करवाया गया होगा ये भी जांच के बाद सामने आयेगा.
 
राज ठाकरे के द्वारा भरी गई हिंदुत्व की हुंकार के बाद जिस प्रकार से मनसे कार्यकर्ताओं ने अपने सेनापति के अभियान में कदम आगे बढ़ाया उसकी मिसाल आज मुंबई में देखने को मिली है. 

मुंबई जो कभी बाला साहब ठाकरे द्वारा हिंदुत्व के परचम से बुलंद रहता था, उस सूने स्थान की रिक्त पूर्ती होती दिखाई दे रही है राज ठाकरे के आह्वान के बाद. उनके कार्यकर्ताओं ने बचाया है कई महिलाओं का सम्मान और जीवन.

मुंबई में राज ठाकरे की पार्टी मनसे के कार्यकर्ता शाखाध्यक्ष प्रशांत राने और विभागाध्यक्ष संदेश देसाई ने मिल कर महिलाओं के कपड़ों की दूकान जिसको शाहनवाज हुसैन नाम का एक विकृत मानसिकता का उन्मादी चलाया करता था के वस्त्र बदलने वाले कमरे में से एक हिडेन कैमरा खोज निकाला. 

इसके बाद मनसे कार्यकर्ताओं ने उस दूकान को जबरन बंद करवाया और कैमरा लगाने वाले हुसैन की पिटाई कर के पुलिस के हवाले कर दिया. अब पुलिस हुसैन से उसके कृत्यों का ब्यौरा ले रही है. मनसे कार्यकर्ताओं के इस कार्य की पूरे मुंबई में वाहवाही हो रही है और हुसैन जैसे विकृत दुकानदारों से सतर्क रहने की अपील भी.


Loading...