दिल्ली में वामीयों का मुहं हुआ काला, CPI को 0.02% तो CPM को 0.01% वोट मिले, सबकी जमानत जप्त


दिल्ली में विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके है और दिल्ली चुनावों को लेकर सिर्फ आम आदमी पार्टी और बीजेपी की ही चर्चा हो रही है इन दोनों पार्टियों के अलावा भी दिल्ली में कई नामी पार्टियों ने चुनाव लड़ा था 

कांग्रेस पार्टी इस बार दिल्ली में 5% वोट भी नहीं ला सकी है, कांग्रेस की सभी सीटों पर जमानत जप्त हुई है, और कांग्रेस तो लगभग 5% वोट तक पहुँच भी गयी पर सीपीआई और सीपीएम का तो जनता ने दिल्ली में मुहं ही काला कर दिया 

सीपीआई वही पार्टी है जिसका नेता है कन्हैया कुमार और सीपीएम पार्टी का नेता है सीताराम येचुरी, इन दोनों पार्टियों ने भी दिल्ली में अपने उम्मीदवार उतारे थे 

सीपीआई जो की कन्हैया कुमार की पार्टी है उसे दिल्ली में 0.02% तो सीपीएम जो की सीताराम येचुरी की पार्टी है उसे 0.01% वोट मिले है, दोनों पार्टियों के सभी उम्मीदवारों की जमानत राशी जप्त हो चुकी है 

दिल्ली विधानसाभा चुनाव में केजरीवाल की पार्टी की फिर से जीत हुई है वहीँ बीजेपी भी अपने वोट प्रतिशत और सीटों की संख्या को बढाने में कामयाब रही है 

पर कांग्रेस और JNU छात्रसंघ वाली पार्टियों यानि सीपीआई सीपीएम इत्यादि की सभी सीटों पर जमानत जप्त हुई है और सीपीएम सीपीआई का तो जनता ने मुहं ही काला कर दिया है