लव जिहाद की शिकार महिलाओं को बनाया गया जिहादी, CAA विरोध में उनको खड़ा कर उगलवाया जा रहा जहर



इस बात को लगातार राष्ट्रवादी समाज द्वारा उठाया गया था कि CAA और NRC के बहाने देश भर में हो रहे दंगे और प्रदर्शन असल में हिन्दू विरोध और देश के विरोध का एक प्रयोग हैं. 

इन प्रदर्शनों में वो तमाम लोग शामिल हैं जो हिन्दू और हिंदुस्तान से नफ़रत करते हैं. उस समय हमारे दावे का सेक्युलर और वामपंथी समाज ने बहुत विरोध किया था , लेकिन आखिरकार सच सामने आ ही गया और सत्य साबित हुआ है राष्ट्रवादी समाज.

ध्यान देने योग्य है कि इस बार CAA विरोध प्रदर्शन के मंच से खुलेआम हिन्दू और हिंदुत्व को अपमानित किया गया है. पहले तो मुस्लिम महिलाओं को आगे किया गया और तमाम अपशब्द हिन्दुओं के खिलाफ बोले गये लेकिन अब उन महिलाओं को आगे किया जा रहा है जो कभी हिन्दू हुआ करती थीं और लव जिहाद के संक्रमण से संक्रमित हो कर अब हिन्दू समाज की ही दुश्मन बन बैठी हैं.

ऐसा ही एक नजारा देखने को मिला है पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के पार्क सर्कस मैदान में. ध्यान देने योग्य ये भी है कि पश्चिम बंगाल में NRC की सबसे ज्यादा जरूरत है क्योकि वर्तमान समय में सबसे जायदा घुसपैठी बंगलादेशी इसी प्रदेश में बताये जाते हैं. 

यहाँ पर पार्क सर्कस मैदान को शाहीन बाग़ जैसा बनाने की साजिश रची गई और उसी सजिश में फिल्म एक्टर जीशान अयूब की बीबी जो अभी तक अपना नाम रसिका लिखती हैं, उन्होंने खुद के हिन्दू होने पर शर्मिंदगी जता दी.

उन्होंने भारत को हिन्दू राष्ट्र जैसा बताते हुए इसको शर्मिंदगी की वजह भी बता डाली. इस बयान पर हिन्दू संगठन आक्रोशित हैं और इसको इनके शौहर जीशान की ही सिखाई गई हरकत बता रहे हैं.