कमलनाथ सरकार ने 'तीर्थ यात्रा' योजना कैंसिल की, हिन्दू तीर्थ यात्रियों के लिए शिवराज ने शुरू की थी योजना


मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने मध्य प्रदेश के हिन्दू समुदाय के लोगो को एक बड़ा झटका दे दिया है, कमलनाथ सरकार ने 'मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना' को कैंसिल कर दिया है वो भी यात्रा की शुरुवात से अचानक 3 दिन पहले 

इस योजना के तहत राज्य सरकार 60 साल से ज्यादा के लोगो के लिए तीर्थ यात्रा का इन्तेजाम करते थी, सरकार ट्रेन और बस की टिकेट करवाती थी और इस योजना के तहत वैष्णो देवी, रामेश्वरम, काशी, द्वारिका इत्यादि की यात्रा की जाती थी 

15 फ़रवरी को वैष्णो देवी के लिए ट्रेन निकालनी थी जिसके लिए 800 लोगो ने रजिस्ट्रेशन करवाया था, पर राज्य सरकार ने अचानक ही बिना कारण बताये यात्रा को कैंसिल कर दिया 

इस योजना को साल 2012 में शिवराज सिंह चौहान ने शुरू किया था, और तभी से हर साल ट्रेन और बस के जरिये लोगो को तीर्थ यात्रा के लिए टिकेट दिए जाते थे 

पर कांग्रेस की सरकार के बनते ही अब इस योजना को बंद कर दिया गया है और राज्य सरकार ने इसका कारण भी नहीं बताया है 

मध्य प्रदेश में कांग्रेस कई सारे फ्री के वादे करके सत्ता में पहुंची थी, मोबाइल की फैक्ट्रीयां लगनी थी, हर बेरोजगार को 10 हज़ार रुपए प्रति महीने मिलने थे, किसानो का सारा कर्जा माफ़ होना था, 5 रुपए लीटर दूध मिलना था, और इसके अलावा कई सारे वादे 

कांग्रेस सरकार ने अबतक अपना 1 भी वादा तो पूरा नहीं किया पर 2012 से चली आ रही योजना को कैंसिल करके कई लोगो को झटका जरुर दे दिया है