ख़त्म हुआ इंतज़ार, अब आतंक की निशानी 'इलाहबाद' का नामो निशान मिटा, सभी स्टेशनों का नाम हुआ प्रयागराज



यूँ तो जिले और शहर का नाम इलाहबाद से प्रयागराज काफी समय पहले ही हो गया था पर रेलवे स्टेशन का नाम अबतक इलाहबाद ही था, पर अब इंतज़ार ख़त्म हो चूका है और अब प्रयागराज के सभी 4 स्टेशन का नाम प्रयागराज और उस से सम्बंधित कर दिया गया है 

पहले रेलवे के बोर्ड पर 'इलाहबाद' लिखा हुआ रहता था पर अब उसे प्रयागराज कर दिया गया है, और इसका ऐलान स्वयं रेल मंत्री पियूष गोयल ने किया है 

गोयल ने कुछ इस अंदाज में ऐलान किया है 

अब इलाहबाद जंक्शन से बदलकर प्रयागराज जंक्शन कर दिया गया है, इसी तरह इलाहबाद संगम से बदलकर प्रयागराज संगम, इलाहबाद रामबाग से बदलकर प्रयागराज रामबाग और इलाहबाद छिवकी से बदलकर प्रयागराज छिवकी कर दिया गया है 

इसका पूरा श्रेय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जाता है जिन्होंने उत्तर प्रदेश की सत्ता में आते ही नामो को लेकर काफी सारे काम किये है 

इलाहबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया गया है, मुग़ल सराय का नामो निशान मिटा दिया गया है, इसके साथ साथ फैजाबाद का भी नामो निशान मिटाकर अयोध्या धाम कर दिया गया है 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की इलाहबाद नाम आतंकवाद की निशानी था, आतंकवादी अकबर ने प्रयागराज का नाम बदलकर इलाहबाद कर दिया था, जो की एक आतंकी गतिविधि थी