मजहबी उन्मादियों ने हिन्दू लड़के को पकड़ा और मौत के घाट उतारने के लिए उसके सर में ड्रिल घुसाई



सब सामान्य तरीके से चल रहा था की 22 फ़रवरी की रात को अचानक मजहबी उन्मादियों ने जाफराबाद मेट्रो के नीचे की सड़क को हजारों की संख्या में कब्जा लिया, उसके बाद मजहबी आतंक मचाने लगे

उसके बाद मजहबी उन्मादियों ने आसपास के इलाकों में आतंक मचा दिया और हिन्दुओ और सिखों को चुन चुन कर निशाना बनाया, इन इलाकों में मजहबी उन्मादियों की संख्या बहुत ज्यादा है

मजहबी उन्मादियों के आतंक की एक से एक तस्वीरें और घटनाएं सामने आ रही है, पास के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल गुरु तेग बहादुर अस्पताल में कई मृतकों और घायलों को लाया गया

इन लोगो में विवेक नाम का 19 साल का एक हिन्दू लड़का भी है, विवेक अपनी दूकान में फंस गया, मजहबी उन्मादियों ने उसे घेर लिया और कई सारे मजहबी उन्मादियों ने उसे पकड़ लिया

उसके बाद मजहबी उन्मादियों ने विवेक के सर में ड्रिल मशीन घुसाई ताकि उसे मौत के घाट उतार सके, विवेक की किस्मत अच्छी थी की पुलिस की टोली इलाके में पहुँच गयी और मजहबी उन्मादी विवेक को छोड़कर भाग गए

बाद में विवेक को अस्पताल लाया गया, जहाँ एक ड्रिल उसके सर में 1 इंच अन्दर तक घुसा हुआ था, विवेक का X-RAY भी सामने आया है



ड्रिल मशीन से दीवार, लकड़ी, और मेटल में छेद किया जाता है, मजहबी नारे लगाते हुए विवेक को पकड़कर उसके सर में मजहबी उन्मादी ड्रिल घुसा रहे थे, आतंक की ये घटना इतनी अमानवीय है की इसे शब्दों में बताया भी नहीं जा सकता, ये मजहबी नफरत है जिसे मजहबी उन्मादियों ने दिखाया है