आतंक रोकने के लिए एयरपोर्ट्स पर मुस्लिमो की ज्यादा जांच होनी चाहिए : माइकल ओ लारी, र्यनैर एयरलाइन कंपनी के मालिक



आतंकवाद को लेकर भले ही बार बार ये कहा जाये की आतंक का कोई मजहब नहीं होता, पर ये भी तथ्य है की जितने भी आतंकवादी पकडे जाते है, जितने भी बम ब्लास्ट किये गए है, सब में आतंकवादी एक ही मजहब से होते है 

र्यनैर एयरलाइन कंपनी जो की आयरलैंड की एक प्रीमियम एयरलाइन कंपनी है उसके मालिक ने आतंकवाद को रोकने के लिए एक बड़ी बात कही है 

र्यनैर एयरलाइन्स के मालिक माइकल ओ लारी ने मांग करी है की एयरपोर्ट्स पर सभी मुस्लिम लोगो की ज्यादा जांच होनी चाहिए, और मुस्लिम लोगो में भी मुस्लिम पुरुषों की ज्यादा और सख्त जांच होनी चाहिए 

माइकल ओ लारी ने कहा की - आतंकवादी मुस्लिम समुदाय से ही होते है और अधिकांश मामलों में आतंकवादी मुस्लिम पुरुष होते है, एयरपोर्ट्स और एयरलाइन इंडस्ट्री हमेशा से ही आतंकवाद के निशाने पर रही है और अधिक सुरक्षा और आतंकवाद पर लगाम लगाने के लिए एयरपोर्ट्स पर मुस्लिम लोगो की ज्यादा जांच की जानी चाहिए 


माइकल ओ लारी ने कहा की आप आतंकवाद को और कितना सहन करेंगे, आपको आतंकवाद रोकना है तो सख्त तो होना ही पड़ेगा, इस से पहले की कोई आतंकवादी आपको बम से उड़ा दे, आप क्या इंतज़ार करते रहेंगे, हमे आतंकवाद रोकने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे, आतंकवादी मुस्लिम ही होते है और उनमे भी अधिकांश मुस्लिम पुरुष, ऐसे में आतंकवाद पर लगाम के लिए एयरपोर्ट्स पर तो मुस्लिम लोगो की ज्यादा जांच होनी चाहिए 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की 9/11 के हमले में भी जहाज का इस्तेमाल किया गया था, इसके अलावा कांधार काण्ड में भी आतंकवादियों ने भारतीय जहाज को अगवा किया था, और भी कई सारे उदाहरण है और तमाम मामलों में इस्लामिक संगठनो का ही हाथ रहा है