अखिलेश यादव ने लखनऊ में कहा - मुझे इस राम और किसी हनुमान की जरुरत नहीं, इस से पहले कन्नौज में भी भड़के थे


अखिलेश यादव इन दिनों भगवान राम और अब हनुमान जी को लेकर काफी भड़के हुए नजर आ रहे है, राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने के बाद से ही अखिलेश यादव और उनकी पार्टी काफी भड़की हुई नजर आ रही है 

अखिलेश यादव ने अब लखनऊ के एक कार्यक्रम में कहा की - मुझे इस राम और किसी हनुमान की जरुरत नहीं है, मुझे राम और हनुमान को नहीं पकड़ना, मुझे ये नहीं चाहिए न मुझे इनकी जरुरत है 

अखिलेश यादव लखनऊ में हिंदुस्तान अख़बार द्वारा आयोजित शिखर सम्मलेन में हिस्सा लेने पहुंचे थे, जहाँ एक सवाल के जवाब में उन्होंने भगवान राम और हनुमान पर ये टिपण्णी की 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की इस से पहले कन्नौज (जिस सीट पर डिंपल यादव लोकसभा हारी थी) में एक सभा कर रहे थे, तभी एक शख्स ने एक बार जय श्री राम बोल दिया, जिसके बाद अखिलेश यादव इतना भड़क गए की पहले अपने समर्थको से उस शख्स की लिंचिंग करवाई, उसे अधमरा कर दिया और उसके बाद पुलिस अधिकारी को भी धमकी देने लगे 

हाल ही में राम मंदिर ट्रस्ट की पहली बैठक भी संपन्न हुई है और राम मंदिर के लिए भूमि पूजन भी किया जाना है, ट्रस्ट के लोगो ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात भी की है और इसके बाद लखनऊ में अखिलेश यादव ने कहा की - मुझे राम और हनुमान की कोई जरुरत नहीं 

आपकी जानकारी के लिए ये भी बता दें की अखिलेश यादव के पिता मुलायम यादव ने 1990 के दौर में अयोध्या में गोली चलवाकर कई हिन्दुओ को मरवा दिया था और कईयों के शवों को सरयू नदी में फेंकवा दिया गया था